राहुल बताएं, क्या सिर्फ मुस्लिम पुरुषों की पार्टी है कांग्रेस : PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन तलाक के मुद्दे पर सपा, बसपा और कांग्रेस को कठघरे में खड़ा करते हुए विपक्ष के परिवारवाद पर करारा प्रहार किया। कहा कि तीन तलाक पर विपक्ष की पोल खुल गई है। केंद्र सरकार महिलाओं के जीवन को बेहतर करने में लगी है, लेकिन विपक्षी दल मिलकर मुस्लिम बहन-बेटियों के जीवन को और संकट में डालने का काम कर रहे हैं।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन तलाक के मुद्दे पर सपा, बसपा और कांग्रेस को कठघरे में खड़ा करते हुए विपक्ष के परिवारवाद पर करारा प्रहार किया। कहा कि तीन तलाक पर विपक्ष की पोल खुल गई है। केंद्र सरकार महिलाओं के जीवन को बेहतर करने में लगी है, लेकिन विपक्षी दल मिलकर मुस्लिम बहन-बेटियों के जीवन को और संकट में डालने का काम कर रहे हैं।  उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि कांग्रेस मुस्लिमवादी पार्टी है और मनमोहन सिंह ने प्रधानमंत्री रहते हुए कहा था कि संसाधनों पर सबसे पहले मुसलमानों का अधिकार है। राहुल गांधी बताएं कि कांग्रेस क्या सिर्फ पुरुषों की पार्टी है या मुस्लिम महिलाओं की भी।  दरअसल, कांग्रेस चाहती है कि तीन तलाक होता रहे और मुस्लिम महिलाओं का जीवन नर्क बना रहे। लोगों को सावधान करते हुए पीएम ने कहा कि परिवारवादी पार्टियों ने देश का बहुत नुकसान किया। वह शनिवार को सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र उप्र के आजमगढ़ में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की आधारशिला रखने के बाद उमड़ी भीड़ को संबोधित कर रहे थे।  विपक्ष के इस गढ़ में एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास कर मोदी ने गाजीपुर, मऊ, आजमगढ़, अंबेडकरनगर, फैजाबाद, अमेठी, सुलतानपुर, बाराबंकी और लखनऊ तक 11 संसदीय क्षेत्रों में भाजपा का समीकरण मजबूत करने की पहल की। यह एक्सप्रेस-वे राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी से गुजरते हुए लखनऊ पहुंचेगा।  2014 के लोकसभा चुनाव में आजमगढ़ में मुलायम सिंह यादव ने भाजपा को शिकस्त दी थी और मिशन 2019 के लिए मोदी ने आजमगढ़ से ही दिल्ली तक फिर पहुंचने के लिए अपनी शुरुआत की। इसके पहले 28 जून को संतकबीरनगर में संतकबीर अकादमी का शिलान्यास करने आये मोदी समरसता का पाठ पढ़ा गये थे।  एक दूसरे को न देखने वाले, अब मोदी को हटाने का नारा दे रहे  अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी की सभा को संबोधित करने से पहले आजमगढ़ की रैली में भोजपुरी में भाषण की शुरुआत कर उन्होंने सपा-बसपा गठबंधन से जनता को आगाह किया। कहा कि जो कभी एक दूसरे को देखना नहीं चाहते थे, अब एक साथ सुबह-शाम मोदी को हटाने का नारा दे रहे हैं। वोट दलितों और पिछड़ों का लेते हैं, लेकिन अपने परिवार का भला करते हैं और अपनी तिजोरी भरते हैं।  ....तो उनकी दुकानें हो जाएंगी बंद  पीएम ने कहा कि ये लोग मिलकर आपका विकास रोकने पर तुले हैं। उन्हें पता है कि गरीब, किसान और पिछड़े सशक्त हो गये तो इनकी दुकानें बंद हो जाएंगी। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पूर्वांचल की आशाओं और आकांक्षाओं को नई बुलंदी देगा। इस एक्सप्रेस वे पर जो भी गांव, शहर और कस्बे आएंगे वहां की तस्वीर बदलने जा रही है। भगवान राम से जुड़े स्थलों और पर्यटन का विकास होगा।    पूर्वांचल में विकास का सूरज उगे बिना न्यू इंडिया की चमक फीकी  करीब 35 मिनट के भाषण में मोदी ने विकास के मुददे पर विपक्ष को चौतरफा घेरा। गठबंधन को एक तरह से चुनौती भी दी। सवाल उठाया कि क्या आजमगढ़ का विकास नहीं होना चाहिए। स्वराज का क्या यही सपना गांधी, आंबेडकर, लोहिया और दीनदयाल उपाध्याय ने देखा था। आजादी के बाद से इन लोगों ने देश, प्रदेश और पूर्वांचल का भला नहीं होने दिया। दुर्भाग्य से समानता और समता की बात करने वाले दल लोहिया और आंबेडकर के नाम पर सिर्फ राजनीति करते रहे।  दलितों और पिछड़ों के साथ आधी मुस्लिम आबादी पर नजर  मोदी पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिस गढ़ में लोगों से मुखातिब थे, वहां अच्छी खासी मुस्लिम आबादी है। तीन तलाक के मुददे को उठाकर उन्होंने आधी मुस्लिम आबादी का दिल जीतने की पहल की। इसके साथ ही मोदी ने आंबेडकर और लोहिया की याद दिलाकर दलितों और पिछड़ों को भी साधा। आजमगढ़ और आसपास के जिले सपा के साथ बसपा के लिए भी अनुकूल रहे हैं।  यूं होगी पूवार्चल एक्सप्रेस वे  -एक्सप्रेस-वे छह लेन चौड़ा (आठ लेन तक विस्तारीकरण का प्लान) बनेगा  -एक्सप्रेस-वे के राइट आफ वे (आरओ डब्लू) की चौड़ाई 120 मीटर  -एक्सप्रेस-वे के एक ओर 3.75 मीटर चौड़ाई का सर्विस रोड स्टैगर्ड रूप में  -एक्सप्रेसवे को क्रास करने वाले मार्गों पर 10 किमी दूरी तक स्थित ग्रामों को एक्सप्रेसवे से कनेक्टिविटी देने के लिए मुख्य मार्ग से जोड़ा जाएगा।  -यह परियोजना लखनऊ-सुल्तानपुर रोड (एनएच-731) पर स्थित ग्राम चांदसराय, जनपद लखनऊ से प्रारंभ होगी।  -यूपी-बिहार सीमा से 18 किमी दूरी पर स्थित ग्राम हैदरिया, जनपद गाजीपुर के पास एनएच 31 से जुड़ेगी। यह अंतिम स्थल होगा।  -एक्सप्रेस वे की कुल लंबाई 340.824 किमी, अनुमानित लागत 23349 करोड़ का आंकलन  -सिविल निर्माण कार्य की लागत 11836 करोड़ (जीएसटी रहित) रुपये अनुमानित  -एक्सप्रेस वे (मेन कैरिजवे) पर कुल सात रेलवे ओवर ब्रिज, सात दीर्घ सेतु, 112 लघु सेतु, 11 इंटरचेंज, सात टोल प्लाजा, चार रैंप प्लाजा, 220 अंडरपास व 496 पुलियों का निर्माण किया जाएगा।  -एक्सप्रेसवे पर आपातकालीन स्थिति में भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों के लैंडिंग व टेक आफ के लिए सुल्तानपुर जनपद में 3.2 किमी लंबी हवाईपट्टी का निर्माण भी प्रस्तावित है।  - लखनऊ से प्रारंभ होने वाली 340.824 किमी लंबी एक्सप्रेस-वे नौ जनपदों से गुजरेगी। लखनऊ से होते हुए बाराबंकी, अमेठी, फैजाबाद सुल्तानपुर, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ होते हुए गाजीपुर तक जाएगी।   ANI ✔ @ANI  #WATCH: PM Narendra Modi addresses at a public event in Azamgarh, UP https://www.pscp.tv/w/bhnAajFwempNQm9XYmtWRWR8MVJEeGxXcGpSa09KTKRcQw3U4S6WE0mS87SIiQfHqSk6oj0_FkJjdrF47bpK …  15:26 - 14 Jul 2018  ANI @ANI_news #WATCH: PM Narendra Modi addresses at a public event in Azamgarh, UP  pscp.tv 77 36 people are talking about this Twitter Ads information and privacy योगी ने सपा पर साधा निशाना  कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री बनने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्वांचल एक्‍सप्रेसवे शिलान्‍यास कार्यक्रम में उपस्थित होकर पूर्वांचल के लोगों को उपकृत किया है। यही उत्‍तर प्रदेश है, जिसमें गुंडाराज, भ्रष्टाचार पीछे चला गया था।  समाजवाद के नाम पर गुंडाराज ने विकास को पीछे धकेल दिया था। एक्‍सप्रेसवे के नाम पर कमीशनखोरी का प्रयास हुआ था। बिना एनओसी के एक्‍सप्रेसवे की बिड डाली गई। एक्‍सप्रेसवे के नाम पर कमीशनखोरी का प्रयास हुआ था। बिना एनओसी के एक्‍सप्रेसवे की बिड डाली गई।  योगी ने कहा कि पहली बार गांव, गरीब किसान और महिलाओं का विकास करने का ईमानदार प्रयास चार सालों में पहली बार हुआ है। पहली बार गांव, गरीब किसान और महिलाओं का विकास करने का ईमानदार प्रयास चार सालों में पहली बार हुआ है।  चार साल के दौरान किसी मंत्री पर कोई दाग नहीं लगा है। पूर्वांचल एक्‍सप्रेसवे को नेशनल हाईवे के जरिए बलिया होते हुए पटना तक जोड़ा जाएगा। इस एक्‍सप्रेसवे को गोरखपुर और अयोध्‍या से भी जोड़ा जाएगा।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि कांग्रेस मुस्लिमवादी पार्टी है और मनमोहन सिंह ने प्रधानमंत्री रहते हुए कहा था कि संसाधनों पर सबसे पहले मुसलमानों का अधिकार है। राहुल गांधी बताएं कि कांग्रेस क्या सिर्फ पुरुषों की पार्टी है या मुस्लिम महिलाओं की भी।

दरअसल, कांग्रेस चाहती है कि तीन तलाक होता रहे और मुस्लिम महिलाओं का जीवन नर्क बना रहे। लोगों को सावधान करते हुए पीएम ने कहा कि परिवारवादी पार्टियों ने देश का बहुत नुकसान किया। वह शनिवार को सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र उप्र के आजमगढ़ में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की आधारशिला रखने के बाद उमड़ी भीड़ को संबोधित कर रहे थे।

विपक्ष के इस गढ़ में एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास कर मोदी ने गाजीपुर, मऊ, आजमगढ़, अंबेडकरनगर, फैजाबाद, अमेठी, सुलतानपुर, बाराबंकी और लखनऊ तक 11 संसदीय क्षेत्रों में भाजपा का समीकरण मजबूत करने की पहल की। यह एक्सप्रेस-वे राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी से गुजरते हुए लखनऊ पहुंचेगा।

2014 के लोकसभा चुनाव में आजमगढ़ में मुलायम सिंह यादव ने भाजपा को शिकस्त दी थी और मिशन 2019 के लिए मोदी ने आजमगढ़ से ही दिल्ली तक फिर पहुंचने के लिए अपनी शुरुआत की। इसके पहले 28 जून को संतकबीरनगर में संतकबीर अकादमी का शिलान्यास करने आये मोदी समरसता का पाठ पढ़ा गये थे।

एक दूसरे को न देखने वाले, अब मोदी को हटाने का नारा दे रहे

अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी की सभा को संबोधित करने से पहले आजमगढ़ की रैली में भोजपुरी में भाषण की शुरुआत कर उन्होंने सपा-बसपा गठबंधन से जनता को आगाह किया। कहा कि जो कभी एक दूसरे को देखना नहीं चाहते थे, अब एक साथ सुबह-शाम मोदी को हटाने का नारा दे रहे हैं। वोट दलितों और पिछड़ों का लेते हैं, लेकिन अपने परिवार का भला करते हैं और अपनी तिजोरी भरते हैं।

….तो उनकी दुकानें हो जाएंगी बंद

पीएम ने कहा कि ये लोग मिलकर आपका विकास रोकने पर तुले हैं। उन्हें पता है कि गरीब, किसान और पिछड़े सशक्त हो गये तो इनकी दुकानें बंद हो जाएंगी। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पूर्वांचल की आशाओं और आकांक्षाओं को नई बुलंदी देगा। इस एक्सप्रेस वे पर जो भी गांव, शहर और कस्बे आएंगे वहां की तस्वीर बदलने जा रही है। भगवान राम से जुड़े स्थलों और पर्यटन का विकास होगा।

पूर्वांचल में विकास का सूरज उगे बिना न्यू इंडिया की चमक फीकी

करीब 35 मिनट के भाषण में मोदी ने विकास के मुददे पर विपक्ष को चौतरफा घेरा। गठबंधन को एक तरह से चुनौती भी दी। सवाल उठाया कि क्या आजमगढ़ का विकास नहीं होना चाहिए। स्वराज का क्या यही सपना गांधी, आंबेडकर, लोहिया और दीनदयाल उपाध्याय ने देखा था। आजादी के बाद से इन लोगों ने देश, प्रदेश और पूर्वांचल का भला नहीं होने दिया। दुर्भाग्य से समानता और समता की बात करने वाले दल लोहिया और आंबेडकर के नाम पर सिर्फ राजनीति करते रहे।

दलितों और पिछड़ों के साथ आधी मुस्लिम आबादी पर नजर

मोदी पूर्वी उत्तर प्रदेश के जिस गढ़ में लोगों से मुखातिब थे, वहां अच्छी खासी मुस्लिम आबादी है। तीन तलाक के मुददे को उठाकर उन्होंने आधी मुस्लिम आबादी का दिल जीतने की पहल की। इसके साथ ही मोदी ने आंबेडकर और लोहिया की याद दिलाकर दलितों और पिछड़ों को भी साधा। आजमगढ़ और आसपास के जिले सपा के साथ बसपा के लिए भी अनुकूल रहे हैं।

यूं होगी पूवार्चल एक्सप्रेस वे

-एक्सप्रेस-वे छह लेन चौड़ा (आठ लेन तक विस्तारीकरण का प्लान) बनेगा

-एक्सप्रेस-वे के राइट आफ वे (आरओ डब्लू) की चौड़ाई 120 मीटर

-एक्सप्रेस-वे के एक ओर 3.75 मीटर चौड़ाई का सर्विस रोड स्टैगर्ड रूप में

-एक्सप्रेसवे को क्रास करने वाले मार्गों पर 10 किमी दूरी तक स्थित ग्रामों को एक्सप्रेसवे से कनेक्टिविटी देने के लिए मुख्य मार्ग से जोड़ा जाएगा।

-यह परियोजना लखनऊ-सुल्तानपुर रोड (एनएच-731) पर स्थित ग्राम चांदसराय, जनपद लखनऊ से प्रारंभ होगी।

-यूपी-बिहार सीमा से 18 किमी दूरी पर स्थित ग्राम हैदरिया, जनपद गाजीपुर के पास एनएच 31 से जुड़ेगी। यह अंतिम स्थल होगा।

-एक्सप्रेस वे की कुल लंबाई 340.824 किमी, अनुमानित लागत 23349 करोड़ का आंकलन

-सिविल निर्माण कार्य की लागत 11836 करोड़ (जीएसटी रहित) रुपये अनुमानित

-एक्सप्रेस वे (मेन कैरिजवे) पर कुल सात रेलवे ओवर ब्रिज, सात दीर्घ सेतु, 112 लघु सेतु, 11 इंटरचेंज, सात टोल प्लाजा, चार रैंप प्लाजा, 220 अंडरपास व 496 पुलियों का निर्माण किया जाएगा।

-एक्सप्रेसवे पर आपातकालीन स्थिति में भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों के लैंडिंग व टेक आफ के लिए सुल्तानपुर जनपद में 3.2 किमी लंबी हवाईपट्टी का निर्माण भी प्रस्तावित है।

– लखनऊ से प्रारंभ होने वाली 340.824 किमी लंबी एक्सप्रेस-वे नौ जनपदों से गुजरेगी। लखनऊ से होते हुए बाराबंकी, अमेठी, फैजाबाद सुल्तानपुर, अंबेडकरनगर, आजमगढ़, मऊ होते हुए गाजीपुर तक जाएगी।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री बनने के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्वांचल एक्‍सप्रेसवे शिलान्‍यास कार्यक्रम में उपस्थित होकर पूर्वांचल के लोगों को उपकृत किया है। यही उत्‍तर प्रदेश है, जिसमें गुंडाराज, भ्रष्टाचार पीछे चला गया था।

समाजवाद के नाम पर गुंडाराज ने विकास को पीछे धकेल दिया था। एक्‍सप्रेसवे के नाम पर कमीशनखोरी का प्रयास हुआ था। बिना एनओसी के एक्‍सप्रेसवे की बिड डाली गई। एक्‍सप्रेसवे के नाम पर कमीशनखोरी का प्रयास हुआ था। बिना एनओसी के एक्‍सप्रेसवे की बिड डाली गई।

योगी ने कहा कि पहली बार गांव, गरीब किसान और महिलाओं का विकास करने का ईमानदार प्रयास चार सालों में पहली बार हुआ है। पहली बार गांव, गरीब किसान और महिलाओं का विकास करने का ईमानदार प्रयास चार सालों में पहली बार हुआ है।

चार साल के दौरान किसी मंत्री पर कोई दाग नहीं लगा है। पूर्वांचल एक्‍सप्रेसवे को नेशनल हाईवे के जरिए बलिया होते हुए पटना तक जोड़ा जाएगा। इस एक्‍सप्रेसवे को गोरखपुर और अयोध्‍या से भी जोड़ा जाएगा।

 

You May Also Like

English News