रिलायंस जिओ के साथ जुड़े करोड़ों ग्राहक, ऐसी प्रतिक्रिया की नहीं थी उम्मीद: अंबानी

नई टेलिकॉम कंपनी रिलायंस जिओ के ग्राहकों की संख्या कुछ ही महीनों में 10 करोड़ को पार कर गई है। कंपनी के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने बताया कि लॉन्चिंग के समय कंपनी ने इतनी बेहतर प्रतिक्रिया की उम्मीद नहीं की थी कि जिओ के साथ लोग इतनी ज्यादा तादाद में जुड़ेगे। साथ ही मुकेश अंबानी ने यह भी कहा कि जिओ की शुरआत के समय हमने जल्द से जल्द 10 करोड़ ग्राहकों को खुद से जोड़ने का लक्ष्य रखा था। लेकिन हमने भी नहीं सोचा था कि यह तो कुछ ही महीनों में हासिल हो जाएगा।

हरदोई में पीएम मोदी बोले- आज तो यहां मैदान ही छोटा पड़ गया…सुप्रीम कोर्ट ने लिया ये बड़ा फैसला, कर्जदारों के बच्‍चों को नहीं मिलेगा स्‍कूल में दाखिला

मुकेश अंबानी ने कहा कि आधार कार्ड से कंपनी हर दिन करीब 10 लख ग्राहकों को कंपनी के साथ जोड़ रही है। इससे पहले टेलिकॉम इंडस्ट्री में आधार बेस सिम कार्ड का नाम भी नहीं लिया जाता था। कंपनी आधार आधारित ईकेवाईसी से कनेक्शन उपलब्ध करवा रही है। कंपनी यूजर्स को आधार नंबर के वेरिफिकेशन के बाद कनेक्शन मुहैया करा रही है। जिओ मात्र 83 दिनों में ही 50 मिलियन यूजर्स का आंकड़ा पार किया था, जिसका मतलब 6 लाख यूजर्स प्रतिदिन है।

जिओ अपने फ्री ऑफर के बाद एक और नई शुरुआत करने की तैयारी में है। ऐसा सुनने में आया है की जिओ ने 6 नंबर से शुरू होने वाले मोबाइल नंबर बेचने की मंजूरी हासिल कर ली है। कंपनी को 6-सीरीज के नंबर बेचने को टेलीकॉम डिपार्टमेंट ने मंजूरी दी है। इसके अलावा कंपनी को 6-सीरीज वाले नंबर के लिए मोबाइल स्विचिंग कोड भी दिए गए हैं। इसके साथ रिलायंस जिओ भारत की पहली टेलीकॉम कंपनी बनेगी, जो 6 से शुरू होने वाले मोबाइल नंबर ग्राहकों को मुहैया कराएगी।

टेलीकॉम टॉक की रिपोर्ट के मुताबिक, टेलीकॉम डिपार्टमेंट ने असम, राजस्थान और तमिलनाडु के लिए 6-सीरीज एमएससी कोड पेश किए हैं। खबर है कि रिलायंस जिओ को राजस्थान के लिए 60010-60019 एमएससी कोड, असम के लिए 60020-60029 एमएससी कोड और तमिलनाडु के लिए 60030-60039 एमएससी कोड मिला है। मध्य प्रदेश और गुजरात में कंपनी को 7-सीरीज के लिए एमएससी कोड मिला है। कोलकाता और महाराष्ट्र के लिए कंपनी को 8-सीरीज के लिए एमएससी कोड मिले हैं।

loading...

You May Also Like

English News