रूस में देखा गया किम जोंग उन का प्राइवेट जेट, दौरे को लेकर अटकलें तेज़

उड़ानों पर निगरानी रखने वाली एक वेबसाइट ने सोमवार को उत्तर कोरिया के तनाशाह किम जोंग उन के प्राइवेट जेट को रूसी शहर व्लादिवोस्तोक की परिधि में पाया, जिससे उनके दौरे की तैयारियों की चर्चाओं को बल मिला है. समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के मुताबिक, फ्लाइटरडार24 ने सोमवार को व्लादिवोस्तोक में चेम्माए-1 जेट को उतरते और उसके सिर्फ तीन घंटे बाद प्योंगयांग की ओर रवाना होते हुए देखा.उड़ानों पर निगरानी रखने वाली एक वेबसाइट ने सोमवार को उत्तर कोरिया के तनाशाह किम जोंग उन के प्राइवेट जेट को रूसी शहर व्लादिवोस्तोक की परिधि में पाया, जिससे उनके दौरे की तैयारियों की चर्चाओं को बल मिला है. समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के मुताबिक, फ्लाइटरडार24 ने सोमवार को व्लादिवोस्तोक में चेम्माए-1 जेट को उतरते और उसके सिर्फ तीन घंटे बाद प्योंगयांग की ओर रवाना होते हुए देखा.   रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तरी कोरियाई शासन की बातों का खुलासा न करने वाले रुख के बावजूद रूसी क्षेत्र में चेम्माए-1 के छोटे से दौरे ने चर्चाओं को हवा दी है कि किम सितंबर में शहर की संभावित यात्रा कर सकते हैं, जिसकी तैयारी के लिए उनकी टीम ने यह यात्रा की है.   रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने किम को रूस के तटीय शहर व्लादिवोस्तोक में अगले सितंबर महीने में पूर्वी आर्थिक मंच में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था, हालांकि प्योंगयांग ने आमंत्रण पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.   जून में हुए थी ट्रंप-किम मुलाकात आपको बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई तनाशाह किम जोंग उन 12 जून को सिंगापुर के एक होटल में ऐतिहासिक शिखर वार्ता के लिये मिले थे. दोनों की करीब 50 मिनट मुलाकात तक चली थी जिसके बाद ट्रंप और किम ने सिंगापुर समझौते पर हस्ताक्षर किया था. समझौते पर हस्ताक्षर के बाद डोनल्ड ट्रंप ने कहा था कि यह काफी व्यापक और महत्वपूर्ण दस्तावेज है.   70 सालों में पहली बार था जब अमेरिका के कोई राष्ट्रपति उत्तर कोरिया के किसी शासक से मुलाकात कर रहे हों. अमेरिका ने सिंगापुर सम्मेलन से पहले कहा था कि उत्तर कोरिया के साथ चर्चा 'उम्मीद से ज्यादा तेजी' से बढ़ रही है. वहीं उत्तर कोरिया ने कहा कि संबंधों का नया दौर शुरू हो चुका है. आपको ये भी बता दें कि इस मुलाकात के बाद दुनिया पर मंडरा रहे परमाणु युद्ध के ख़तरे पर हालिया विराम लग गया है.

रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तरी कोरियाई शासन की बातों का खुलासा न करने वाले रुख के बावजूद रूसी क्षेत्र में चेम्माए-1 के छोटे से दौरे ने चर्चाओं को हवा दी है कि किम सितंबर में शहर की संभावित यात्रा कर सकते हैं, जिसकी तैयारी के लिए उनकी टीम ने यह यात्रा की है.

रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने किम को रूस के तटीय शहर व्लादिवोस्तोक में अगले सितंबर महीने में पूर्वी आर्थिक मंच में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था, हालांकि प्योंगयांग ने आमंत्रण पर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

आपको बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई तनाशाह किम जोंग उन 12 जून को सिंगापुर के एक होटल में ऐतिहासिक शिखर वार्ता के लिये मिले थे. दोनों की करीब 50 मिनट मुलाकात तक चली थी जिसके बाद ट्रंप और किम ने सिंगापुर समझौते पर हस्ताक्षर किया था. समझौते पर हस्ताक्षर के बाद डोनल्ड ट्रंप ने कहा था कि यह काफी व्यापक और महत्वपूर्ण दस्तावेज है.

70 सालों में पहली बार था जब अमेरिका के कोई राष्ट्रपति उत्तर कोरिया के किसी शासक से मुलाकात कर रहे हों. अमेरिका ने सिंगापुर सम्मेलन से पहले कहा था कि उत्तर कोरिया के साथ चर्चा ‘उम्मीद से ज्यादा तेजी’ से बढ़ रही है. वहीं उत्तर कोरिया ने कहा कि संबंधों का नया दौर शुरू हो चुका है. आपको ये भी बता दें कि इस मुलाकात के बाद दुनिया पर मंडरा रहे परमाणु युद्ध के ख़तरे पर हालिया विराम लग गया है.

 

You May Also Like

English News