रेलवे ट्रैक पर टुकड़े-टुकड़े में मिला इंजीनियर का शव

बंगलुरु में कार्यरत एक सीनियर सॉफ्टवेयर इंजीनियर रविवार शाम फ्लाइट से नोएडा आने के दौरान अचानक गायब हो गया. उसका कई टुकड़ों में कटा हुआ शव सोमवार सुबह नोएडा के बादलपुर कोतवाली क्षेत्र में रेलवे ट्रैक पर पड़ा मिला. मृतक के मोबाइल पर पिता की कॉल आने के बाद उसकी पहचान राजीव कुमार वर्मा के रूप में हुई.

रेलवे ट्रैक पर टुकड़े-टुकड़े में मिला इंजीनियर का शव
इंजीनियर का धड़ ट्रैक के बीचों बीच में था और सिर दूसरी दिशा में पड़ा था. पुलिस ने क्षत-विक्षत शव का पोस्टमार्टम कराया है. मृतक का दूसरा हाथ अगले दिन घटनास्थल एक किलोमीटर दूर मिला. परिजनों ने हत्या कर शव ट्रैक पर फेंकने का आरोप लगाया है. मृतक के परिजनों की तहरीर पर पुलिस जांच के बाद कार्रवाई की बात कर रही है.जानकारी के मुताबिक, कुछ दिन पहले ही मृतक राजीव कुमार वर्मा का दिल्ली के हर्ष विहार निवासी युवती से रिश्ता पक्का हुआ था. बिसरख निवासी सेवानिवृत्त एडीओ सोहनपाल सिंह कहते है कि शनिवार शाम को राजीव की उनके मोबाइल पर कॉल आई थी. राजीव ने सभी का हालचाल पूछने के बाद मां से बात करने की इच्छा जाहिर की थी.

सोहनपाल ने घर जाकर बात करा देने की बात कही थी. लगभग आधे घंटे बाद घर पहुंचकर उन्होंने राजीव का फोन काफी देर तक लगाया, लेकिन व्यस्त जाता रहा. इसके बाद में उसके मोबाइल पर कॉल भी गई, लेकिन उसने फोन रिसीव नहीं हुआ. सोमवार सुबह 7 बजे सोहनपाल ने एक बार फिर राजीव के मोबाइल पर कॉल की.

इस बार कॉल किसी अन्य व्यक्ति ने रिसीव किया. पूछने पर उसने जानकारी दी कि वह छपरौला पुलिस चौकी इंचार्ज बोल रहे हैं. उन्होंने यह भी बताया कि राजीव का शव रेलवे ट्रैक पर पड़ा मिला है. इसके बाद परिजन मौके पर पहुंच गए. राजीव इससे पहले कभी भी बिना बताए घर नहीं आया, बल्कि वह कॉल कर अपनी मर्जी से खाना बनाने को भी कहता था.

मृतक की जेब से मिले टिकट के अनुसार रविवार दोपहर 2.30 बजे बंगलुरु से फ्लाइट पकड़कर शाम 6:10 तक दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंचा था. राजीव ने देर शाम 7:24 मिनट पर घर पर फोन करके सबसे बात की थी. इसके बाद कॉल रिसीव नहीं किया. इस बीच वह कहां रहा. परिजनों ने अज्ञात आरोपियों पर झांसा देकर बुलाने और हत्या करने का आरोप लगाया.

You May Also Like

English News