रोडरेज मामले में क्या बोले सिद्धू ?

 नवजोतसिंह सिद्धू की मुसीबतें कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं.पंजाब की कैप्टन अमरेंद्र सिंह सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में अपने ही कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के ख़िलाफ़ रोडरेज एवं गैर-इरादतन हत्या मामले में 3 वर्ष की सजा बरकरार रखने का समर्थन किया है, जबकि वे खुद अमरेंद्र सिंह सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं.नई दिल्ली : नवजोतसिंह सिद्धू की मुसीबतें कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं.पंजाब की कैप्टन अमरेंद्र सिंह सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में अपने ही कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के ख़िलाफ़ रोडरेज एवं गैर-इरादतन हत्या मामले में 3 वर्ष की सजा बरकरार रखने का समर्थन किया है, जबकि वे खुद अमरेंद्र सिंह सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं.  इस विरोधाभास पर सिद्धू ने चुप्पी तोड़ी है. इस मामले में प्रेस से चर्चा करते हुए कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पंजाब सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में जो कुछ कहा है वह क्यों कहा है, उसका जवाब या तो खुद सी.एम या फिर पंजाब के एडवोकेट जनरल दे सकते हैं. आम आदमी पार्टी और अकाली दल द्वारा उनका इस्तीफा मांगने के प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा कि विरोधी पक्ष की हालत बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना जैसी हो गई है.  बता दें कि सिद्धू ने खुद को सक्षम बताते हुए कहा कि चूँकि मामला कोर्ट में है, इसलिए इस पर कोई टिप्पणी नहीं करूँगा.मैं यह नहीं बताऊंगा कि पंजाब सरकार के इस बयान से मैं खुश हूं या नाराज हूं यह 30 वर्ष पुराना मामला है.और इसे अंजाम तक पहुंचने में समय लग सकता है. सुप्रीम कोर्ट में अपने ही कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के ख़िलाफ़ 3 वर्ष की सजा का कैप्टन अमरेंद्र सिंह द्वारा समर्थन करना सिद्धू से बढ़ती दूरियों की ओर इशारा कर रहा है.नई दिल्ली : नवजोतसिंह सिद्धू की मुसीबतें कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं.पंजाब की कैप्टन अमरेंद्र सिंह सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में अपने ही कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के ख़िलाफ़ रोडरेज एवं गैर-इरादतन हत्या मामले में 3 वर्ष की सजा बरकरार रखने का समर्थन किया है, जबकि वे खुद अमरेंद्र सिंह सरकार में कैबिनेट मंत्री हैं.  इस विरोधाभास पर सिद्धू ने चुप्पी तोड़ी है. इस मामले में प्रेस से चर्चा करते हुए कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पंजाब सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में जो कुछ कहा है वह क्यों कहा है, उसका जवाब या तो खुद सी.एम या फिर पंजाब के एडवोकेट जनरल दे सकते हैं. आम आदमी पार्टी और अकाली दल द्वारा उनका इस्तीफा मांगने के प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा कि विरोधी पक्ष की हालत बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना जैसी हो गई है.  बता दें कि सिद्धू ने खुद को सक्षम बताते हुए कहा कि चूँकि मामला कोर्ट में है, इसलिए इस पर कोई टिप्पणी नहीं करूँगा.मैं यह नहीं बताऊंगा कि पंजाब सरकार के इस बयान से मैं खुश हूं या नाराज हूं यह 30 वर्ष पुराना मामला है.और इसे अंजाम तक पहुंचने में समय लग सकता है. सुप्रीम कोर्ट में अपने ही कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के ख़िलाफ़ 3 वर्ष की सजा का कैप्टन अमरेंद्र सिंह द्वारा समर्थन करना सिद्धू से बढ़ती दूरियों की ओर इशारा कर रहा है.

इस विरोधाभास पर सिद्धू ने चुप्पी तोड़ी है. इस मामले में प्रेस से चर्चा करते हुए कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि पंजाब सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में जो कुछ कहा है वह क्यों कहा है, उसका जवाब या तो खुद सी.एम या फिर पंजाब के एडवोकेट जनरल दे सकते हैं. आम आदमी पार्टी और अकाली दल द्वारा उनका इस्तीफा मांगने के प्रश्न का उत्तर देते हुए कहा कि विरोधी पक्ष की हालत बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना जैसी हो गई है.

बता दें कि सिद्धू ने खुद को सक्षम बताते हुए कहा कि चूँकि मामला कोर्ट में है, इसलिए इस पर कोई टिप्पणी नहीं करूँगा.मैं यह नहीं बताऊंगा कि पंजाब सरकार के इस बयान से मैं खुश हूं या नाराज हूं यह 30 वर्ष पुराना मामला है.और इसे अंजाम तक पहुंचने में समय लग सकता है. सुप्रीम कोर्ट में अपने ही कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के ख़िलाफ़ 3 वर्ष की सजा का कैप्टन अमरेंद्र सिंह द्वारा समर्थन करना सिद्धू से बढ़ती दूरियों की ओर इशारा कर रहा है.

You May Also Like

English News