रोनाल्डो का गोल रोकने वाला ये ईरानी गोलकीपर कभी सोता था सड़क पर

मंगलवार को फीफा वर्ल्ड कप में ग्रुप बी का एक रोमांचक मुकाबला खेला गया। पुर्तगाल और ईरान के बीच यह मैच 1-1 से ड्रा रहा। बीच मैच में पुर्तगाल के पास एक और गोल का मौका आया था मगर टीम के स्टार फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो उसमें चूक गए जिसके चलते मैच उनके हाथ से निकल गया। दरअसल हुआ यूं कि पुर्तगाल की टीम 1-0 से आगे चल रही थी तभी 53वें मिनट में मिली पेनाल्टी को रोनाल्डो गोल में नहीं बदल पाए। ईरान के गोलकीपर अलीरेजा बेरनवांद ने अंदाजा लगा लिया था कि गेंद कहां आएगी और उन्होंने रोनाल्डो की किक को रोककर अपनी टीम के लिए एक गोल बचा लिया। यह गोल रेाकते ही अलीरेजा की चर्चा चारों तरफ होने लगी। तो आइए द गार्जियन में छपी एक रिपोर्ट के आधार पर जानें आखिर ये अलीरेजा है कौन और कहां से आया।
रोनाल्डो का गोल रोकते अलीरेजा। फोटो : एपी
बंजारा परिवार में हुआ था जन्म

ईरानी गोलकीपर अलीरेजा दरअसल एक बंजारा फैमिली में पैदा हुए थे, जिनके पास न कोई घर था न ही ठिकाना। यह भेड़ पाला करते थे और उनके चारा के लिए एक जगह से दूसरी जगह घूमना इनकी मजबूरी थी। अलीरेजा चाहते थे कि वह पिता की तरह सिर्फ भेड़ नहीं चराएंगे। 12 साल की उम्र में अलीरेजा ने एक लोकल फुटबॉल टीम की तरफ से खेलना शुरु कर दिया। अलीरेजा ने अपने करियर की शुरुआत बतौर स्ट्राइकर की थी मगर एक दिन उनकी टीम का गोली चोटिल हो गया जिसकी जगह अलीरेजा को गोलकीपर बना दिया। उस मैच में अलीरेजा ने इतना बेहतर परफॉर्म किया कि उन्हें रेगुलर गोलकीपर रख लिया गया। हालांकि अलीरेजा के पिता अपने बेटे के गोलकीपर बनने से नाराज थे। यहां तक कि उन्होंने अलीरेजा के खेलने पर ही प्रतिबंध लगा दिया, फिर क्या एक दिन अलीरेजा अपने सपने को पूरा करने घर से भागकर तेहरान पहुंच गए।

You May Also Like

English News