अगर रोना आए तो खुलकर रो लें नहीं तो हो जाएगी ये भयानक….!

कहते हैं कि हंसना सेहत के लिए फायदेमंद होता है और रोना बरबादी या सुस्ती आती है। लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि रोना भी सेहत के लिए अच्छा होता है। आइए आज जानते हैं रोने के कुछ फायदों के बारे में।
अगर रोना आए तो खुलकर रो लें नहीं तो हो जाएगी ये भयानक....!
 

लड़कियां सावधान! ब्वॉयफ्रेंड को भूलकर भी न करें ये मैसेज

– जिस तरह से पसीना, पेशाब आने से शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकलते हैं, वैसे ही आंसू आने से होता है। एक अध्ययन के अनुसार, स्ट्रेस की वजह से रोना और आंखों में परेशानी की वजह से पानी आने में अंतर है। जब हम रोते हैं तो शरीर से एड्रेनोकॉर्टिकोट्रोपिक और ल्यूसीन नामक स्ट्रेस हॉर्मोन निकलते हैं लेकिन आंखों से पानी आने से ऐसा कुछ नहीं होता।

– आंसू आंखों में मेमब्रेन को सूखने नहीं देते। इसके सूखने की वजह से आंखों की रोशनी में फर्क पड़ता है जिस वजह से लोगों को कम दिखना शुरू हो जाता है।
– आंसुओं में लाइसोजाइम नामक तत्व पाया जाता है जो बाहरी बैक्टीरिया को नष्ट करने में सहायक होता है।
– रोने से तनाव दूर होता है। इस वजह से आपका मूड भी अच्छा होता है। कई लोग अपने गुस्से और तनाव को दबा लेते हैं जो आगे चलकर भयंकर रूप ले लेता है। अगर तनाव भगाना हो और रोने का मन हो तो रो लेना चाहिए।
– अगर विज्ञान से हटकर बात की जाए तो आंसू वो बयान कर देते हैं जो शब्द नहीं कर पाते। अगर अपने पार्टनर के साथ झगड़ा हो गया हो तो आंसू सब ठीक कर देते हैं। आंखों में आंसू देख साथी आसानी से मान जाता है।

– कुछ लोगों को लगता है कि रोने से उनके स्वाभिमान को चोट पहुंच जाएगी। ऐसी सोच ज्यादातर लड़कों की होती है, वे रोना चाहते हैं पर रो नहीं पाते। शोध करहते हैं कि अगर एक बार खुलकर रो लिया जाए तो इससे आपका मूड अच्छा हो जाता है।

ऑर्गैजम के बारे में ये 8 बातें जानकर आप हो जायेंगे हैरान

– डिप्रेशन में जाने के बाद लोग कई तरह की दवाइयों, योगा आदि का सहारा लेते हैं। लेकिन ऐसे में रोना सबसे अच्छा माना जाता है। जो भी आपके करीब हो उसे गले लगाकर रोने से दिल हल्का हो जाता है और जीवन का आनंद आता है।

 

You May Also Like

English News