पाकिस्तान को चाहिए दीवाली का तोहफा इसीलिए नहीं….

जाने क्यों एक बार फिर लग रहा है कि पाकिस्तान को जल्द ही दीवाली का तौहफा मिलने जा रहा है।

पाकिस्तान को चाहिए दीवाली का तोहफा इसीलिए नहीं....
उरी हमले के बाद सर्जिकल स्ट्राइक तौफा लेकर सेना पाकिस्तान गई थी इस बार आतंकियों के अब्बा पाकिस्तान को दीवाली गिफ्ट कैसे भेजा जाए इसको लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाईलेवल मीटिंग की है, पाकिस्तान को सबक सिखाने की तैयारी के लिए !
उम्मीद है कि सेना की मांग पर इस बार गिफ्ट पैक में बमों की संख्या बढ़ाने पर भी गंभीरता से विचार किया गया है। वैसे भी देश में इस समय भोपाल की दीवाली और वहां बने बमों की बहुत चर्चा हो रही है।
दरअसल, पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। पिछले कई दिनों से वह अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा के पास रह रहे लोगों को निशाना बनाकर गोलीबारी और मोर्टार दाग कर उनको निशाना बना रहा है। इसके अभी तक 8 लोगों की मौत हो गई है और करीब 25 घायल है।
पाकिस्तान ने पहले दीवाली और अब भैया दूज के दिन जम्मू संभाग में भारी गोलीबारी कर युद्ध जैसे हालात पैदा कर दिए। पाकिस्तान ने करीब डेढ़ दर्जन भारतीय चैकियों के साथ-साथ रिहायशी इलाकों को निशाने पर लेते हुए जमकर मोर्टार दागे है। ऐसा लगता है कि पाकिस्तान इस बार भी दीवाली का गिफ्ट लिए बिना शांति से नहीं बैठेगा।
प्रधानमंत्री मोदी की हाई लेवल मीटिंग से पहले कल गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने भी भारत पाक सीमा पर स्थिति की समीक्षा के लिए बैठक की जिसमें पाकिस्तान को जवाब देने के लिए नए सिरे से रणनीति बनाने पर जोर दिया गया। बैठक में रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल, सेना प्रमुख जनरल दलबीर सिंह सुहाग और अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे ।
 बतातें चले कि बैठक के बाद ही यह निर्णय हुआ कि रक्षा मंत्री और सेना प्रमुख जम्मू कश्मीर में जाकर एक बार स्थिति का अवलोकन करे। वहीं जम्मू के बॉर्डर पर स्थित सभी 174 स्कूलों को बंद कर दिया जाए।

ये भी पढ़े:> चीन से निपटने के रूस भारत को देगा ये खतरनाक हधियार

अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) और जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर स्थिति की समीक्षा के लिए हुई बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने जो हाई लेवल मीटिंग की उसमें गृह मंत्री राजनाथ सिंह के अलावा रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवाल, मौजूद थे। जिसके बाद से अटकले तेज हो गई भारत सरकार पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए कोई बड़ा कदम उठाने की सोच रही है।
वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में पाकिस्तानी सेना ने हेवी ऑर्टिलरी गन्स से लैस अपनी बटालियन तैनात करनी शुरू कर दी है। पीओके में रहने वाले लोगों को वीडियो रिकॉर्ड करने से रोका जा रहा है।
इसके पहले पाकिस्तानी सेना सीमा पर बॉर्डर एक्शन टीम को तैनात कर चुकी है।
 साभार: LIVE INDIA LIVE

You May Also Like

English News