लगातार माउस के इस्तेमाल से कलाई में होता है दर्द? जानिये कुछ टिप्स जो आपको देंगे राहत

अगर आप भी दफ्तर में लगातार माउस चला चला कर हाथ को हलकान कर चुके हैं तो ये खबर आपको राहत देगी। जी हां लगातार माउस के इस्तेमाल से हाथ, कलाई और उंगली में हमेशा के लिए दर्द बस जाता है जो काफी खतरनाक है। वक्त के साथ अगर ये दर्द बढता है तो व्यक्ति कारपल टनल सिंड्रोम का भी शिकार हो सकता है।लगातार माउस के इस्तेमाल से कलाई में होता है दर्द? जानिये कुछ टिप्स जो आपको देंगे राहतयह भी पढ़े: अब टैटू बनवाने से पहले इन बातों का जरुर रखें ख्याल,वरना…

कार्पल टनल सिंड्रोम (सीटीएस) हाथों में होने वाला एक विकार है जो कलाई से होकर गुजरने वाली तंत्रिकाओं पर पड़े दबाव के कारण उत्पन्न होता है। आइए जानते हैं कैसे कुछ योग करके हम इस दर्द से छुटकारा पा सकते हैं। 

हैंडकफ
इस योग में आपको अपनी कलाई के विपरीत अंगूठे और तर्जनी उंगली से गोलाकार करके पकडना चाहिए। ऐसा करते वक्त आप कलाई को पांच सेंकड तक जोर से दबाएं। इसके अलावा आप एक और योग भी कर सकते हैं। इसमें आप अपनी कलाई को नीचे की तरफ मोड़े। मानो आपकी उंगलियां धरती की तरफ इशारा कर रही हो। अपने बाएं हाथ से दाहिनी हाथ के बाहर हिस्से को दबाएं। अपने बाएं हाथ का उपयोग धीरे-धीरे अपने दाहिने हाथ को दबाने के लिए करें। आप ऐसा तब तक करें जब तक आपको हाथों में किसी तरह का कोई तनाव ना महसूस होने लगे। 

प्रार्थना मुद्रा
इसके लिए व्यक्ति दोनों हाथों हाथ जोड़कर नमस्कार वाली मुद्रा में बैठे। ऐसे करते वक्त उसे अपने दोनों हाथों पर हल्का सा दबाव देना चाहिए। इसके बाद अपने हाथों को कलाई की तरफ झुकाएं। पहले बाएं हाथ से दाहिने हाथ की ओर 45 डिग्री का कोण बनाते हुए धक्का दे। उसके बाद दाहिने से बाएं हाथ की तरफ ये आसन करे। इसके अलावा आप दूसरे आसन में अपने पैरों को एक साथ जोड़ते हुए अपने कंधे-चौड़े करते हुए सीधा खड़े हो जाए। अपनी छाती के बीच में अपने हथेलियों को एक साथ दबाते हुए कोशिश करें कि आपके हाथ जमीन से समानांतर दिशा की और रहें। इसके बाद अपनी उंगलियों को ऊपर की तरफ खींचे। ऐसा करने से भी आपको काफी लाभ मिलेगा। 

विपरीत प्रार्थना-
इसमें व्यक्ति अपनी पीठ की तरफ, अपने हाथों को नमस्ते की मुद्रा में ले जाता है। अपनी उंगलियों को ऊपर के स्थान पर नीचे की तरफ रखें। 20 सेकंड्स तक हाथों को ऐसे ही रखें। ऐसा करने से भी व्यक्ति को काफी आराम मिलता है।

सावधानियां
माउस और की-बोर्ड पर काम करते समय बीच-बीच में कुछ मिनटों का विराम लें। ऐसा करते वक्त सिर्फ कलाइयों को ही नहीं अपने दोनों हाथों को अलग-अलग दिशा में खीचें। 
ये भी निश्चित कर लें कि काम करते समय आपका की-बोर्ड उचित जगह पर रखा हो। ताकि टाइपिंग करते वक्त आपकी कलाइयां ज्यादा ऊपर की तरफ मुड़ी हुई ना रहें।

You May Also Like

English News