लादेन के बाद इस जवाहिरी ने भी पाकिस्तान में बनाया अपना ठिकाना

पाकिस्तान में हुई सर्जिकल स्ट्राइक में अलक़ायदा के मुखिया ओसामा बिन लादेन को मारने के छह साल के बाद अमेरिका को अब यह सूचना मिली है कि अलक़ायदा में लादेन के बाद दूसरे नम्बर की पोज़ीशन रखने वाला जवाहिरी के पाकिस्तान के कराची शहर में छुपा हुआ है.अमेरिका के पास इस बात की जानकारी है कि दुनिया के सबसे खूंखार आतंकवादियों में से एक जवाहिरी पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसई के संरक्षण में पाकिस्तान में एश कर रहा है. दुनिया के सबसे खतरनाक आतंकी संगठन अलक़ायदा का मुखिया ओसामा बिन लादेन शिक्षा से इन्जीनियर था लेकिन पेशे से आतंकी बन गया. इसी तरह जवाहिरी एक टॉप क्लास का ट्रेंड सर्जन है.

अमेरिका की साप्ताहिक पत्रिका न्यूज़ वीक का दावा है कि वर्ष 2001 में अमरीकी सुरक्षा बलों ने जब अलकायदा के आतंकियों को खदेड़ा था तब से जवाहिरी पाकिस्तान में छुपा हुआ है.  लादेन की मौत के बाद से जवाहिरी ही अलकायदा की कमान संभाले हुए है. उसने छुपने के लिये कराची को सबसे सुरक्षित ठिकाना माना है क्योंकि यह शहर अरब सागर के किनारे है और काफी बड़ा शहर है.

इस शहर की आबादी तकरीबन ढाई करोड़ है. कराची ऐसी जगह है जहाँ किसी भी देश की तरफ से सर्जिकल स्ट्राइक आसान बात नहीं है. लादेन ने एबटाबाद को अपने छुपने की जगह के रूप में चुना था. यह इलाका बहुत शांत था. आबादी से दूर था. अमेरिका ने वहां आसानी से जाकर लादेन को मार गिराया और किसी को हवा भी नहीं लग पाई जबकि जवाहिरी ने भीड़भाड़ वाली जगह पर अपना ठिकाना बनाया है.

अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआईए के शीर्ष अधिकारी रहे बूरस राईडेल ने भी यह माना है कि अमेरिका के लिए कराची में छापेमारी बहुत मुश्किल बात होगी. जवाहिरी बहुत खतरनाक किस्म का आतंकी है. उसने अपने छुपने के लिये जिस जगह को चुना है वह काफी सोच समझकर चुना है.

You May Also Like

English News