लापता सुखोई-30 का मिला ब्लैक बॉक्स, 6 दिन बाद भी पायलट का कोई पता नहीं

अरुणाचल प्रदेश। अरुणाचल प्रदेश के तेजपुर से 23 मई को लापता हुए सुखोई-30 एमआई का ब्लैक बॉक्स मिल गया है। विमान का मलबा तीन दिन पहले मिला था, लेकिन इस एयरक्राफ्ट के दो पायलट के बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं मिल पाई है। इसने तेजपुर से सुबह 10:30 उड़ान भरी थी, लेकिन 11:10 बजे इसका रेडियो और रडार से संपर्क टूट गया था। यह एयरक्राफ्ट रूटीन ट्रेनिंग मिशन पर था।लापता सुखोई-30 का मिला ब्लैक बॉक्स, 6 दिन बाद भी पायलट का कोई पता नहींएयरफोर्स के स्पोक्सपर्सन विंग कमांडर अनुपम बनर्जी ने दिल्ली में बताया कि सर्च और रेस्क्यू ऑपरेशन की टीम हादसे वाली जगह पहुंच गई है। प्लेन का ब्लैक बॉक्स बरामद कर लिया गया है और आगे तलाश जारी है। लापता पायलटों की पहचान का खुलासा नहीं किया गया है। उनको लेकर आशंकाएं बनी हुई हैं।

एयरक्राफ्ट 23 मई को रेग्युलर ट्रेनिंग मिशन के दौरान लापता हो गया था। विमान का मलबा 26 मई को तेजपुर एयरबेस से करीब 60 किलोमीटर दूर घने जंगलों में मिला था। एयरफोर्स ने पहले ही इस हादसे की कोर्ट ऑफ इनक्वायरी के आदेश दे दिए हैं। 

तेजपुर में एयरबेस की स्थापना 2009 में वाइस एयर चीफ मार्शल पीके बारबोरा के वक्त हुई थी। मौजूदा वक्त में तेजपुर में सुखोई-30 की 2 स्क्वॉड्रन हैं। एक स्क्वॉड्रन में 12 से 16 एयरक्राफ्ट होते हैं। सुखोई-30 एमके टू सीट फाइटर जेट है। यह गाइडेड और अनगाइडेड एयरक्राफ्ट डिजाइन और ऑपरेशन (एओडी) इस्तेमाल करते हुए जमीन और आसमान में टारगेट करने में कैपेबल है।

You May Also Like

English News