लालकृष्ण आडवाणी का छलका दर्द, वजह बना पाकिस्तान

नई दिल्ली| भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने सोमवार को कहा कि उन्हें इस बात का दुख है कि उनका जन्मस्थान सिंध, भारत का हिस्सा नहीं है। आडवाणी ने एक कार्यक्रम में यह बात कही, जिसमें भारत दौरे पर आईं बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना भी मौजूद थीं।

बड़ी ख़बर: NDA की महाबैठक में राष्ट्रपति के लिए मोदी-शाह ने इस नाम पर लगा दी मुहर…

आडवाणी ने कहा, “जब भारत को आजादी मिली यह (सिंध) हमसे अलग हो गया। सिंध, भारत का हिस्सा नहीं है, यह मेरे साथ-साथ उन सभी को दुखी करता है, जो कभी वहां रहे।”

आडवाणी ने कहा, “यह (सिंध) अविभाजित भारत का हिस्सा था, जब यह स्वतंत्र नहीं था और ब्रिटेन का उपनिवेश था। मैंने उसी भाग में जन्म लिया, मेरा वहां घर था।

इंडिया फाउंडेशन की ओर से आयोजित समारोह में आडवाणी ने कहा कि उन्होंने इस बारे में हसीना की मौजूदगी में बताने के बारे में सोचा था।

You May Also Like

English News