लालू ने आरजेडी के स्थापना दिवस पर कहा- अखिलेश-मायावती साथ आएं तो 2019 में BJP का कर देंगे खेल खत्म

आरजेडी के स्थापना दिवस पर बुधवार को पटना में पार्टी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादन ने कहा कि उनकी पार्टी का जन्म की उथल पुथल से हुआ है. उन्होंने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि देश खतरनाक दौर से गुजर रहा है और यहां अघोषित आपातकाल के हालात हैं. उन्होंने कहा कि गलती से ही मोदी सरकार सत्ता में आई.लालू ने आरजेडी के स्थापना दिवस पर कहा- अखिलेश-मायावती साथ आएं तो 2019 में BJP का कर देंगे खेल खत्मबड़ी खबर: मोदी के इजरायल दौरे से भड़का चीन, अभी-अभी जंग का किया ऐलान, हिंद महासागर से कभी भी छेड़ सकती है जंग!

लालू यादव ने देश के हालात का जिक्र करते हुए कहा कि मोदी सरकार आने के बाद रोजगार जीरो पर पहुंच गया है. कालाधन वापस लाने की बात को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह जुमला बता चुके हैं. राम और रहीम के नाम पर देशभर में नफरत फैलाई जा रही है. यहां तक कि जानवरों का मेला लगना तक बंद हो गया है. उन्होंने कहा कि झारखंड में 3 आदिवासी किसानों ने आत्महत्या कर ली.

स्थापना दिवस कार्यक्रम में बोलते हुए लालू यादव ने कहा कि देश में कानून और किसान की स्थिति चिंताजनक है. नौकरी है नहीं रोबोट से काम नहीं करवाया जा सकता. यूपी में बीजेपी की जीत पर बोलते हुए लालू ने कहा कि अगर मायवती और अखिलेश एक जाएं तो बीजेपी का गेम ओवर हो जाएगा. उन्होंने उम्मीद जताई की 2019 से पहले ऐसी स्थिति बन जाएगी.

जानिए क्यों टमाटर के दाम छू रहे आसमान और कब लगेगी इस पर लगाम…

सीबीआई जांच पर लालू ने कहा कि आजकल कोर्ट बहुत जाना पड़ता है. लेकिन हम न्यायपालिका का सम्मान करते हैं और इसीलिए हर तारीख पर कोर्ट जाते हैं. बेनामा संपत्ति पर सफाई देते हुए उन्होंने कहा कि 13 एकड़ जमीन के दस्तावेज हमारे पास हैं आइए हमारे घर, हम दिखाते हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार हमें कमजोर बनाना चाहती है. उन्होंने कहा कि वो हमें हटाना चाहते हैं और हम बीजेपी को हटाना चाहते हैं.

राष्ट्रपति चुनाव पर बोलते हुए लालू ने कहा कि बीजेपी ने आडवाणी के सपनों पर पानी फेर दिया. उन्होंने कहा कि बिहार के राज्यपाल को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाना चकित करता है. लालू ने कहा कि रामनाथ कोविंद दलित नहीं हैं, यह कोली जाति के हैं जो कि गुजरात में ओबीसी के तहत आती है. लालू ने कहा कि अगर कांग्रेस भी आरएसएस के उम्मीदवार का समर्थन करती तब भी हम समर्थन नहीं देते, क्योंकि हम विचारधारा से समझौता नहीं कर सकते.

You May Also Like

English News