लालू के बाद अब ममता के ऊपर आया ये बड़ा संकट, सामने आया ये बड़ा घोटाला…

कोलकाता। लालू परिवार के बाद अब ममता परिवार के ऊपर भी संकट के बादल मंडराने लगे है। अब ममता बनर्जी के पापों का घड़ा फूटने वाला है। ममता बनर्जी का हाल भी लालू प्रसाद जैसा होने वाला है। अपने बेटे तेजस्वी यादव के कारण जिस तरह लालू प्रसाद को बिहार के पावर सेंटर से हटना पड़ा वैसे ही अब ममता बनर्जी का भी यही हाल अपने भतीजे के कारण होने वाला है।

लालू के बाद अब ममता के उपर आया ये बड़ा संकट, सामने आया बड़ा घोटाला...

दरअसल केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आरोप लगाया कि अभिषेक ने एक रियल स्टेट कारोबारी राज किशोर मोदी से उस वक्त 1.15 करोड़ रुपए प्राप्त किया था जब वह लीप्स एंड बाउंड्स प्रॉ लिमिटेड कंपनी में निदेशक थे। भाजपा ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से अपने भतीजे एवं तृणमूल कांग्रेस सांसद अभिषेक बनर्जी के खिलाफ लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर पाक-साफ साबित होने या पद से इस्तीफा देने को कहा। 

राज किशोर पर जमीन कब्जाने सहित आपराधिक गतिविधियों को लेकर जांच चल रही है। मंत्री ने कहा कि दुर्भाग्य से ममता ने 2009 में एक विरोध प्रदर्शन कर राज किशोर की गिरफ्तार की मांग की थी और उन पर किसानों की जमीन पर कब्जा करने का आरोप लगाया था। ममता ने रियल स्टेट कारोबारी को मिली इजाजत का विरोध किया था लेकिन पिछली माकपा सरकार द्वारा दी गई इजाजत को वापस नहीं लिया। तृणमूल कांग्रेस भ्रष्टाचार के मामले में वाड्रा, तेजस्वी मॉडल के रास्ते पर चल रही है। उन्होंने कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी के दामाद राबर्ट वाड्रा और राजद के तेजस्वी यादव का जिक्र करते हुए यह कहा। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि हम यह निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि टीएमसी असल में सारदा से नारदा और आखिर में ममता तक टोटल ममता फॉर करप्शन है। तृणमूल कांग्रेस के नारे मां, माटी और मानुष को आड़े हाथ लेते हुए उन्होंने कहा कि असल में यह ममता के लिए आमी, आमार, आमार परिवार है और इस तरह भाई भतीजावाद अपने चरम पर है।

ममता के भतीजे पर भ्रष्टाचार के आरोप

दरअसल एक निजी चैनल टाइम्स नाऊ के हाथ लगे दस्तावेज के अनुसार ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक ने भ्रष्टाचार किया है। अभिषेक की कंपनी ‘लीप्स ऐंड बाउंड्स प्राइवेट लिमिटेड’ को राज किशोर मोदी नाम के एक शख्स ने भुगतान किया। बताया जा रहा है कि राज किशोर मोदी जमीन की सौदेबाजी का काम करता है। उसपर जमीन हथियाने और हत्या की कोशिश में शामिल होने जैसे आपराधिक आरोप हैं और उसके खिलाफ जांच भी चल रही है। कागजातों से पता चलता है कि राज किशोर ने लीप्स ऐंड बाउंड्स प्राइवेट लिमिटेड में डेढ़ करोड़ रुपयों से ज्यादा का निवेश किया।

अभिषेक बनर्जी ने की है कमिशनखोरी

आरोप है कि अभिषेक जब इस कंपनी के डायरेक्टर थे, तब उन्हें कमिशन भी दिया गया था। दिलचस्प यह है कि साल 2009 में खुद ममता बनर्जी ने ही राज किशोर को गिरफ्तार किए जाने की मांग करते हुए प्रदर्शन किया था। टाइम्स नाउ अपने पास के दस्तावेज के आधार पर दावा करता है कि 2012 और 2013 में अभिषेक और राज किशोर के बीच एक कॉमन लिंक था। इस शख्स का नाम अशोक तुलस्यान था। अशोक एक चार्टर्ड अकाउंटेंट (CA) था। अशोक न केवल राज किशोर की कंपनी ‘ग्रीन टेक सिटी प्राइवेट लिमिटेड’ के डायरेक्टर्स में से एक था, बल्कि अभिषेक बनर्जी की कंपनी में भी वह एक ऑडिटर था।

ममता की परेशानी का सबब बनेंगे अभिषेक

इस पूरे मामले में ममता बनर्जी के लिए कई चीजें परेशानी का कारण बन सकती हैं। अभिषेक की कंपनी के निदेशक, जिनमें अभिषेक की पत्नी भी शामिल हैं, मुख्यमंत्री बनर्जी के आधिकारिक निवास ’30 बी, हरिश चटर्जी रोड, कोलकाता’ में रहते हुए दिखाए गए हैं। बताया गया है कि ये सभी CM आवास में ही रहते हैं। यह कागजात अभिषेक पर लग रहे आरोपों को ममता के करीब ले आया है। अभिषेक 2014 में सांसद बने। इससे पहले तक वह ममता बनर्जी के मुख्यमंत्री आवास में ही रह रहे थे। सांसद चुने जाने के बाद उन्होंने अपनी कंपनी ‘लीप्स ऐंड बाउंड्स’ के निदेशक पद से इस्तीफा दिया था।

saffronswastik.com से साभार

 

 

You May Also Like

English News