लालू परिवार में भ्रष्टाचार के तार एक दूसरे से जुड़ते चले जा रहे हैं: जदयू

जेल में बंद आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के दूसरे दामाद राहुल यादव प्रवर्तन निदेशालय के निशाने पर आ गए हैं. प्रवर्तन निदेशालय ने राहुल यादव को नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए बुलाया है. राहुल यादव के ऊपर आरोप है कि उन्होंने एक करोड़ रुपये अपनी सास राबड़ी देवी को लोन के रूप में दिया. इसी मुद्दे को लेकर जदयू ने कहा है कि लालू परिवार पूरी भ्रष्टाचार का गैंग बन चुका है.लालू परिवार में भ्रष्टाचार के तार एक दूसरे से जुड़ते चले जा रहे हैं: जदयूसुशील कुमार मोदी ने RJD पर कसा तंज, कहा- संवैधानिक संस्थाओं पर विघटनकारी राजनीति

पार्टी ने कहा है कि लालू परिवार में भ्रष्टाचार के तार एक दूसरे से जुड़ते चले जा रहे हैं. पार्टी प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि लालू प्रसाद यादव ने भ्रष्टाचार करके अपने परिवार के सभी व्यक्तियों को फंसा दिया जो कभी निर्दोष हुआ करते थे. लालू पर तंज कसते हुए संजय सिंह ने कहा कि आरजेडी सुप्रीमो ने उस जमींदार की तरह काम किया, जिसके ऊपर सरकार ने दबाव बनाया तो उसने अपनी जमीन नौकरों के नाम कर दी और यह सोचा कि सब कुछ ठीक हो गया.

जदयू प्रवक्ता ने कहा कि लालू की हालत शुतुरमुर्ग की तरह हो गई है, जिसे लगता है कि उसने अपना सर जमीन के अंदर कर लिया है तो खतरा टल गया है. संजय सिंह ने कहा कि लालू ने पहले अपने पत्नी, उसके बाद बेटी, फिर बेटे और अब अपने दामाद को भी फंसा दिया, क्योंकि अब लालू के दामाद भी आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय के निशाने पर आ गए हैं. जदयू प्रवक्ता ने कहा कि लालू परिवार के लिए वही बात है कि जैसी करनी वैसी भरनी. 

पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर निशाना साधते हुए संजय सिंह ने कहा कि पता नहीं क्यों लालू परिवार धन के लिए इतना हाय हाय क्यों करता है ? संजय सिंह ने कहा कि लालू कभी कहा करते थे कि वह गरीबों के नेता है मगर आज के दिन उन्होंने इतना पैसा इकट्ठा किया है कि उनसे बड़ा बिहार में कोई नहीं है. जदयू ने कहा कि लालू यादव माफियाओं के नेता बन गए, क्योंकि यही माफिया बिहार के गरीबों को लूटकर लालू का दामन भरते हैं. जदयू ने कहा कि माफियाओं ने लालू परिवार के सभी सदस्यों का दामन पैसे से भर दिया है, जिसका परिणाम यह है कि आज के दिन लालू परिवार का कोई भी व्यक्ति अरबपति से कम नहीं है. संजय सिंह ने कहा कि लालू परिवार शायद यह भूल गया है कि कफन में जेब नहीं होता है.

तेजस्वी के शैक्षणिक योग्यता पर तंज कसते हुए संजय सिंह ने कहा कि देश के लाखों प्रतिभावान युवा इस विषय पर शोध करने के इच्छुक है कि तेजस्वी यादव बिना शैक्षणिक योग्यता के इतनी कम उम्र में अकूत संपत्ति के मालिक कैसे बन गए ? जदयू प्रवक्ता ने तेजस्वी यादव से कहा कि उन्हें आज के युवाओं को कुछ टिप्स दे देना चाहिए, क्योंकि योग्यता रखने के बावजूद भी उन्हें नौकरी के लिए संघर्ष करना पड़ता है. जदयू ने कहा कि 28 साल की छोटी सी उम्र में हजारों करोड़ के मालिक बने तेजस्वी यादव को देश के मैनेजमेंट संस्थानों में क्लास लेना चाहिए और बताना चाहिए कि कैसे बिना मेहनत और बिना कोई धंधा किए अकूत संपत्ति बनाई जा सकती है.

You May Also Like

English News