लालू प्रसाद की सियासी विरासत में ऐश्वर्या ने मारी एंट्री, जदयू ने कसा तंज

राजद प्रमुख लालू प्रसाद के परिवार का एक और सदस्य राजनीति के मैदान में उतरने को बेताब है। राजद के स्थापना दिवस के लिए पार्टी द्वारा तैयार बैनर-पोस्टर में तेज प्रताप की पत्नी ऐश्वर्या की तस्वीर को प्रमुखता से छापा गया है। इसके बाद चर्चाएं तेज हो गई हैं। अभी तक राजद की राजनीति में लालू परिवार के पांच सदस्य ही सक्रिय थे। ऐश्वर्या का प्रवेश छठे सदस्य के रूप में हुआ है।

राजद का 22वां स्थापना दिवस गुरुवार को पार्टी कार्यालय में मनाया जाना है। इसके पहले से लालू परिवार की चर्चाएं आम हैं, जिसके मुख्य किरदार तेज प्रताप हैं। दो दिन पहले तेज प्रताप के फेसबुक एवं ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट कमेंट को लेकर लालू परिवार की काफी फजीहत हुई थी। हालांकि बाद में तेज प्रताप ने इसे भाजपा एवं जदयू की साजिश करार देकर कह दिया कि उनका अकाउंट हैक कर उनकी ओर से आपत्तिजनक बयान जारी कर दिया गया था। विरोधी दल के नेता उनके परिवार में फूट डालने की साजिश कर रहे हैं।

विवाद ठंडा भी नहीं पड़ा था कि स्थापना दिवस कार्यक्रम के लिए जारी विज्ञप्ति में तेज प्रताप का नाम नहीं होने पर राजनीति गर्म हो गई। राजद में इसे लालू परिवार में विवाद के बाद तेज प्रताप को अलग-थलग करने की कोशिश बताया जाने लगा। हालांकि, तेज प्रताप ने इसका भी खंडन किया और परिवार को अटूट-एकजुट बताया। राजद के कार्यक्रमों में अभी तक लालू प्रसाद, राबड़ी देवी, तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव एवं मीसा भारती की ही तस्वीरों को तरजीह मिलती थी। लालू परिवार से किसी अन्य सदस्य को पोस्टर में जगह नहीं दी जाती थी। ऐश्वर्या को पहली बार बैनरों में लालू परिवार के अन्य सदस्यों के साथ देखा गया है। 

ऐश्वर्या की दो महीने पहले तेज प्रताप से शादी हुई है। तेज प्रताप ने कहा था कि ऐश्वर्या राजनीति में नहीं आएगी, लेकिन संसदीय चुनाव में सिवान से प्रत्याशी बनने की चर्चा भी साथ-साथ चल रही है। 
तेज प्रताप की सफाई 
स्थापना दिवस समारोह में नाम नहीं होने पर तेज प्रताप ने कहा है कि भाजपा और आरएसएस के लोग भ्रम फैला रहे हैं। पार्टी हमारी है और मैं पार्टी का। पोस्टरों में मेरा फोटो है। मैं कार्यक्रम में रहूंगा। दोनों भाइयों में विवाद नहीं है। तेजस्वी मेरे लिए अर्जुन की तरह है। कल फिर श्रीकृष्ण की तरह मैं शंखनाद करूंगा। मुझे किनारे करने का सवाल ही नहीं उठता। कार्यक्रम में तेजस्वी को कैसे सम्मान देना है, इसकी पूरी प्लानिंग हमने की है।

राजनीतिक बयानबाजी तेज 
लालू आवास के बाहर लगे पोस्टर में तेजप्रताप की पत्नी ऐश्वर्या राय की तस्वीर आने के बाद राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है। इस मामले में जहां जेडीयू ने निशाना साधा है तो वहीं कांग्रेस ने इसका स्वागत किया है। जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार ने कहा कि लालू के घर का हर व्यक्ति पार्टी में महत्वपूर्ण दावेदार हो जाता है।राजनीतिक परिवारवाद का इससे खराब चेहरा और कुछ नहीं हो सकता है। राजद कार्यकर्ताओं की दुहाई देते हुए नीरज ने पूछा कि आखिर कार्यकर्ताओं को जगह कब मिलेगी?

वहीं इस मामले में कांग्रेस ने लालू परिवार की बड़ी बहू ऐश्वर्या राय की सियासी इंट्री पर शुभकामनाएं दी हैं। बिहार प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रभारी अध्यक्ष कौकब कादरी ने कहा है कि ऐश्वर्या की पृष्टभूमि राजनीतिक रही है।उनके दादा मुख्यमंत्री तो पिता मंत्री रह चुके हैं। ऐसे में अगर लालू परिवार की तरफ से उनकी सियासी इंट्री होती है तो कांग्रेस की शुभकामनाएं उनके साथ है।

ऐश्वर्या के पॉलिटिकल एंट्री के कयास
गौरतलब है कि पांच जुलाई को होने वाले राजद के स्थापना दिवस समारोह को लेकर कार्यकर्ताओं ने एक पोस्टर लगाई है जिसमें लालू प्रसाद यादव, राबड़ी देवी, तेजप्रताप यादव, तेजस्वी यादव, मीसा भारती के साथ-साथ लालू की बहू ऐश्वर्या राय भी हैं। किसी राजनीतिक कार्यक्रम में पहली बार ऐश्वर्या की तस्वीर सामने आई है, जिससे यह संकेत मिलता है कि ऐश्वर्या कभी भी अब पॉलिटिकल में एंट्री कर सकती हैं।

You May Also Like

English News