लिएंडर पेस एशियाई खेलों में नहीं लेंगे हिस्सा, इस वजह से नाराज

भारत के अनुभवी टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस पुरुष युगल में एक्सपर्ट साझेदार नहीं मिलने से नाराज होकर 18वें एशियाई खेलों से हट गए हैं. पेस को जूझ रहे एकल खिलाड़ी सुमित नागल के साथ जोड़ी बनाने को कहा गया था क्योंकि अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) देश के शीर्ष युगल खिलाड़ियों रोहन बोपन्ना और दिविज शरण की उनके आग्रह पर जोड़ी बनाने को सहमत हो गया था.भारत के अनुभवी टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस पुरुष युगल में एक्सपर्ट साझेदार नहीं मिलने से नाराज होकर 18वें एशियाई खेलों से हट गए हैं. पेस को जूझ रहे एकल खिलाड़ी सुमित नागल के साथ जोड़ी बनाने को कहा गया था क्योंकि अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) देश के शीर्ष युगल खिलाड़ियों रोहन बोपन्ना और दिविज शरण की उनके आग्रह पर जोड़ी बनाने को सहमत हो गया था.  पेस पहले ही टॉप प्लान से बाहर किए जाने से नाराज थे लेकिन इस 45 वर्षीय खिलाड़ी ने खुद को एशियाई खेलों के लिए उपलब्ध रखा था जहां उन्होंने 5 गोल्ड सहित 8 मेडस अपने नाम किए हैं. पेस ने पीटीआई को भेजे बयान में कहा, ‘बड़ी मायूसी के साथ मैं यह कह रहा हूं कि मैं इंडोनेशिया में आगामी एशियाई खेलों में नहीं खेलूंगा.’उन्होंने कहा, ‘इतने हफ्तों पहले से लगातार आग्रह करने के बावजूद यह दुखद है कि हम एशियाई खेलों में दूसरी मजबूत युगल जोड़ी के लिए युगल एक्सपर्ट को टीम में शामिल नहीं कर पाए.’  दिविज और बोपन्ना के साथ खेलने का फैसला करने के बाद कप्तान जीशान अली के पास पेस की जोड़ी नागल या रामकुमार रामनाथन के साथ बनाने के अलावा कोई विकल्प नहीं था.  पेस ने सवाल उठाया कि आखिर एआईटीए दो एक्सपर्ट युगल टीमें क्यों नहीं उतार सकता. उन्होंने कहा, ‘रामकुमार काफी अच्छा खिलाड़ी है और मैं उसके साथ युगल खेलना पसंद करता लेकिन यह ध्यान में रखते हुए कि उसके पास एकल में पदक जीतने का सुनहरा मौका है, यह ठीक नहीं होगा कि मैं उसकी सर्वश्रेष्ठ स्पर्धा से उसका ध्यान भटकाऊं.’’  3 बार से नहीं खेले एशियन गेम्स  पेस पिछले दो एशियाई खेलों से बाहर रहने के बाद इस बार इस प्रतियोगिता में वापसी करने वाले थे. पेस ने कहा, ‘हमारे युगल एक्सपर्ट श्रीराम बालाजी, विष्णु वर्धन, पूरव राजा और जीवन नेदुनचेझियान मौजूदा सत्र में काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और इनमें से एक एशियाई खेलों की टीम को मजबूत करने के लिए इसमें शामिल होने का हकदार था.’  लिएंडर पेस ने कहा कि उनकी गैरमौजूदगी से भारत की संभावना पर प्रतिकूल असर नहीं पड़ेगा. उन्होंने कहा, ‘टीम की संभावनाओं पर असर पड़ने की जगह मुझे लगता है कि मेरी गैरमौजूदगी में बाकी खिलाड़ियों को अधिक स्पर्धाएं खेलने में मदद मिलेगी, फिर चाहे यह युगल हो या मिश्रित युगल.’

पेस पहले ही टॉप प्लान से बाहर किए जाने से नाराज थे लेकिन इस 45 वर्षीय खिलाड़ी ने खुद को एशियाई खेलों के लिए उपलब्ध रखा था जहां उन्होंने 5 गोल्ड सहित 8 मेडस अपने नाम किए हैं. पेस ने पीटीआई को भेजे बयान में कहा, ‘बड़ी मायूसी के साथ मैं यह कह रहा हूं कि मैं इंडोनेशिया में आगामी एशियाई खेलों में नहीं खेलूंगा.’उन्होंने कहा, ‘इतने हफ्तों पहले से लगातार आग्रह करने के बावजूद यह दुखद है कि हम एशियाई खेलों में दूसरी मजबूत युगल जोड़ी के लिए युगल एक्सपर्ट को टीम में शामिल नहीं कर पाए.’

दिविज और बोपन्ना के साथ खेलने का फैसला करने के बाद कप्तान जीशान अली के पास पेस की जोड़ी नागल या रामकुमार रामनाथन के साथ बनाने के अलावा कोई विकल्प नहीं था.

पेस ने सवाल उठाया कि आखिर एआईटीए दो एक्सपर्ट युगल टीमें क्यों नहीं उतार सकता. उन्होंने कहा, ‘रामकुमार काफी अच्छा खिलाड़ी है और मैं उसके साथ युगल खेलना पसंद करता लेकिन यह ध्यान में रखते हुए कि उसके पास एकल में पदक जीतने का सुनहरा मौका है, यह ठीक नहीं होगा कि मैं उसकी सर्वश्रेष्ठ स्पर्धा से उसका ध्यान भटकाऊं.’’

3 बार से नहीं खेले एशियन गेम्स

पेस पिछले दो एशियाई खेलों से बाहर रहने के बाद इस बार इस प्रतियोगिता में वापसी करने वाले थे. पेस ने कहा, ‘हमारे युगल एक्सपर्ट श्रीराम बालाजी, विष्णु वर्धन, पूरव राजा और जीवन नेदुनचेझियान मौजूदा सत्र में काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और इनमें से एक एशियाई खेलों की टीम को मजबूत करने के लिए इसमें शामिल होने का हकदार था.’

लिएंडर पेस ने कहा कि उनकी गैरमौजूदगी से भारत की संभावना पर प्रतिकूल असर नहीं पड़ेगा. उन्होंने कहा, ‘टीम की संभावनाओं पर असर पड़ने की जगह मुझे लगता है कि मेरी गैरमौजूदगी में बाकी खिलाड़ियों को अधिक स्पर्धाएं खेलने में मदद मिलेगी, फिर चाहे यह युगल हो या मिश्रित युगल.’

You May Also Like

English News