लॉर्ड्स में बराबरी के लिए बेताब टीम इंडिया, लेकिन ये आंकड़े हैं डरावने

बर्मिंघम टेस्ट में जीती हुई बाजी हारने के बाद अब विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम इंडिया का लक्ष्य क्रिकेट के मक्का कहे जाने वाले ‘लॉर्ड्स’ के मैदान पर दूसरा टेस्ट मैच जीतकर सीरीज 1-1 से बराबर करने का होगा.लॉर्ड्स में बराबरी के लिए बेताब टीम इंडिया, लेकिन ये आंकड़े हैं डरावने

यह टेस्ट मैच कल यानी 9 अगस्त से खेला जाएगा जो 13 अगस्त तक चलेगा. बर्मिंघम में टीम इंडिया को 31 रन से हार का सामना करना पड़ा था ऐसे में भारत लॉर्ड्स में जीत के इरादे से उतरेगा. टीम इंडिया के पक्ष में एक बात यह है कि आखिरी बार इस मैदान पर उन्होंने मेजबान इंग्लैंड को मात दी थी.

लॉर्ड्स में टीम इंडिया का रिकॉर्ड

लॉर्ड्स के मैदान पर टीम इंडिया के रिकॉर्ड की बात करें तो वह बेहद खराब रहा है. इस मैदान पर भारतीय टीम ने 17 टेस्ट मैच खेले हैं. इन 17 मैचों में से इंग्लैंड की टीम ने 11 मुकाबलों में जीत हासिल की है, तो भारतीय टीम सिर्फ 2 बार ही जीत सकी है. वहीं 4 बार टेस्ट मैच ड्रॉ रहा.

1986 में मिली थी पहली जीत

1986 में भारतीय टीम जब इंग्‍लैंड दौरे पर गई थी, तो पहले ही टेस्‍ट मैच में लॉर्ड्स के मैदान पर ऐसी ऐतिहासिक जीत मिल जाएगी यह किसी ने नहीं सोचा था. यह जीत कपिल देव की अगुवाई में मिली थी. कपिल देव की कप्तानी में टीम इंडिया ने डेविड गॉवर की इंग्लिश टीम को 5 विकेट से मात दी थी. उस मैच में दिलीप वेंगसरकर के शतक और कपिल देव तथा चेतन शर्मा की गेंदबाजी ने टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई थी.

28 साल बाद वर्ष 2014 में भारत ने फिर किया कमाल

साल 1986 में पहली जीत हासिल करने के बाद भारत को दूसरी जीत के लिए 28 साल तक इंतजार करना पड़ा. साल 2014 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी वाली टीम इंडिया ने लॉर्ड्स में एलिस्टेयर कुक की टीम को 95 रनों से शिकस्त दी थी. इस मैच में अजिंक्य रहाणे ने शतकीय पारी खेली जबकि भुवनेश्वर कुमार ने पहली पारी में 6 और ईशांत शर्मा ने दूसरी पारी में 7 विकेट झटकते हुए टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई. इस मैच में ईशांत शर्मा ने एक रिकॉर्ड भी अपने नाम किया था. इस मैच में ईशांत ने 74 रन देकर सात विकेट लिए थे और ये इस ऐतिहासिक मैदान पर किसी भी भारतीय गेंदबाज का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है.

लॉर्ड्स : टीम इंडिया vs इंग्लैंड

1932: इंग्लैंड 158 रनों से जीता

1936: इंग्लैंड 10 विकेट से जीता

1946: इंग्लैंड 10 विकेट से जीता

1952: इंग्लैंड 8 विकेट से जीता

1959: इंग्लैंड 8 विकेट से जीता

1967:  इंग्लैंड पारी और 124 रनों से जीता

1971:  टेस्ट ड्रॉ

1974: इंग्लैंड पारी और 285 रनों से जीता

1979: टेस्ट ड्रॉ

1982:  इंग्लैंड 7 विकेट से जीता

1986: भारत 5 विकेट से जीता

1990:  इंग्लैंड 247 रनों से जीता

1996:  टेस्ट ड्रॉ

2002:  इंग्लैंड 170 रनों से जीता

2007:  टेस्ट ड्रॉ

2011: इंग्लैंड 196 रनों से जीता

You May Also Like

English News