लोगों की परेशानियां जानने के लिए अधिकारियों को दिया ये बड़ा निर्देश…

किराया बढ़ोत्तरी को लेकर केंद्र व दिल्ली सरकार के बीच लगातार लग रहे आरोप और प्रदर्शन के बीच यात्रियों की परेशानियों को जानने के लिए अधिकारियों को भी मेट्रो में यात्रा के निर्देश दिए गए हैं। डीएमआरसी की बैठक में अगले वर्ष विभिन्न लाइनों पर 100 अतिरिक्त कोच बढ़ाने की बात कही गई है। मेट्रो भवन मुख्यालय में हुई बैठक में डीएमआरसी के निदेशक (परिचालन) शरत शर्मा ने परिचालन एवं रखरखाव शाखा के सभी अधिकारियों को ड्यूटी में आने जाने के लिए मेट्रो इस्तेमाल का निर्देश दिया। वर्तमान में परिचालन एवं रखरखाव में करीब छह से सात अधिकारी कार्यरत हैं। लोगों की परेशानियां जानने के लिए अधिकारियों को दिया ये बड़ा निर्देश...Big News: पीएम मोदी का विवादित पोस्टर लगाना पड़ा भारी, 22 के खिलाफ एफआईआर!

माना जा रहा है कि छह महीने में दूसरी बार भारी भरकम किराया बढ़ोत्तरी के बाद केंद्र व दिल्ली सरकार के तकरार को देखते हुए भी यह फैसला लिया गया है। बैठक में कहा गया है कि इसका उद्देश्य मेट्रो परिसरों में स्वच्छता का ‘सर्वोच्च स्तर’ भी सुनिश्चित करना है।

14 स्टेशनों का होगा नवीनीकरण- जीटीबी नगर, उत्तम नगर पूर्व, लक्ष्मी नगर, रिठाला, दिलशाद गार्डन, द्वारका सेक्टर-21, जहांगीरपुरी, सिकंदरपुर, तिलकनगर, प्रगति मैदान और करोलबाग का नवीनीकरण किया जाएगा। 

मेट्रो में डीएमआरसी अधिकारियों के यात्रा करने से दिन प्रतिदिन होनेवाली यत्रियों की दिक्कत को भी समझेंगे। इससे डीएमआरसी को भी नियमित रूप से फीडबैक मिलेगा। मेट्रो में यात्रा कर अधिकारी परेशानियों का जायजा लेंगे।

अगले वर्ष 100 कोच बढ़ेंगे
यात्रियों की भीड़ व परेशानियों को देखते हुए डीएमआरसी अगले वर्ष 100 कोच बढ़ाएंगे। इसके तहत चार कोच की मेट्रो को छह कोच और छह कोच को आठ कोच मेट्रो में बदला जाएगा। इसके अलावा 37 स्वचालित सीढिय़ां (एस्केलेटर) और 100 एएफसी में गेट भी लगाए जाएंगे। डीएमआरसी का कहना है कि पांच वर्षों में मेट्रो में यात्रियों की क्षमता 45 प्रतिशत बढ़ा है।

100 कोच बढ़ाए जाएंगे अगले वर्ष जल्द ही मेट्रो रूट से जुड़ेंगी दो यूनिवॢसटी 
मेट्रो के तीसरे चरण में कालकाजी मंदिर-बोटेनिकल गार्डन मेट्रो रूट शुरू होने के बाद जल्द ही दो प्रमुख यूनिवॢसटी मेट्रो से जुड़ जाएंगी। इनमें जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी और नोएडा की एमिटी यूनिवर्सिटी शमिल है। इससे पहले दिल्ली यूनिवर्सिटी व इन्द्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी के अलावा आईआईटी, सीबीएसई जैसे शैक्षणिक संस्थानों को भी मेट्रो से जोड़ा गया है। डीएमआरसी के अनुसार, जनकपुरी वेस्ट बोटेनिकल गार्डन (38.23) मेजेंटा रूट अगले वर्ष पूरी तरह शुरू होने के बाद छात्र साउथ कैंपस आसानी से पहुंच सकेंगे। मुनिरका मेट्रो स्टेशन से जेएनयू भी जुड़ जाएगा।

डीएमआरसी प्रवक्ता के अनुसार, मेट्रो रेल सुरक्षा आयुक्त से क्लियरेंस मिलते ही इसी महीने जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी और नोएडा के एमिटी यूनिवर्सिटी से भी मेट्रो जुड़ जाएगी। वर्तमान में येलो लाइन रूट पर विश्वविद्यालय मेट्रो स्टेशन डीयू के नॉर्थ कैम्पस और कश्मीरी गेट स्थित इन्द्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी भी मेट्रो से जुड़ी है। डीएमआरसी के अनुसार, पिंक लाइन मजलिस पार्क से शिव विहार (58.59) के अगले वर्ष शुरू होने के बाद साउथ कैंपस मेट्रो स्टेशन से डीयू का दूसरा कैंपस भी जुड़ जाएगा। इससे न केवल छात्र-छात्राओं बल्कि स्टाफ की भी आवाजाही आसान होगी और समय की भी बचत होगी।

मेट्रो के तीसरे चरण में कालकाजी मंदिर-बोटेनिकल गार्डन मेट्रो रूट शुरू होने के बाद जल्द ही दो प्रमुख यूनिवॢसटी मेट्रो से जुड़ जाएंगी। इनमें जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी और नोएडा की एमिटी यूनिवर्सिटी शमिल है। इससे पहले दिल्ली यूनिवर्सिटी व इन्द्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी के अलावा आईआईटी, सीबीएसई जैसे शैक्षणिक संस्थानों को भी मेट्रो से जोड़ा गया है। डीएमआरसी के अनुसार, जनकपुरी वेस्ट बोटेनिकल गार्डन (38.23) मेजेंटा रूट अगले वर्ष पूरी तरह शुरू होने के बाद छात्र साउथ कैंपस आसानी से पहुंच सकेंगे।

मुनिरका मेट्रो स्टेशन से जेएनयू भी जुड़ जाएगा। डीएमआरसी प्रवक्ता के अनुसार, मेट्रो रेल सुरक्षा आयुक्त से क्लियरेंस मिलते ही इसी महीने जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी और नोएडा के एमिटी यूनिवर्सिटी से भी मेट्रो जुड़ जाएगी। वर्तमान में येलो लाइन रूट पर विश्वविद्यालय मेट्रो स्टेशन डीयू के नॉर्थ कैम्पस और कश्मीरी गेट स्थित इन्द्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी भी मेट्रो से जुड़ी है। डीएमआरसी के अनुसार, पिंक लाइन मजलिस पार्क से शिव विहार (58.59) के अगले वर्ष शुरू होने के बाद साउथ कैंपस मेट्रो स्टेशन से डीयू का दूसरा कैंपस भी जुड़ जाएगा। इससे न केवल छात्र-छात्राओं बल्कि स्टाफ की भी आवाजाही आसान होगी और समय की भी बचत होगी।

You May Also Like

English News