वर्ष 2018 को दिव्यांग सैनिकों को समर्पित करेगी भारतीय सेना

भारतीय सेना ने एक अहम कदम उठाते हुए इस साल को दिव्यांग सैनिकों के नाम करने का फैसला किया है। सेना के मुताबिक, यह साल उन जवानों को समर्पित होगा, जिन्होंने देश के लिए अपने अंग गंवाए हैं।भारतीय सेना ने एक अहम कदम उठाते हुए इस साल को दिव्यांग सैनिकों के नाम करने का फैसला किया है। सेना के मुताबिक, यह साल उन जवानों को समर्पित होगा, जिन्होंने देश के लिए अपने अंग गंवाए हैं।  ऐसे में अब सेना ने उन दिव्यांग जवानों के बारे में भी सोचा है और उन बहादुर सैनिकों के पुनर्वास और कल्याण के साथ-साथ उन्हें सम्मान देने के लिए यह साल उन्हें समर्पित करने का फैसला किया है।  बता दें की सेना द्वारा ऐसे सैनिकों की आर्थिक तौर पर मदद की जाएगी जिनके शारीरिक अंग युद्ध में खराब हुए हैं और जिसके चलते वे अपनी नौकरी सेना में पूरी नहीं कर पाए। यह एकमुश्त मदद होगी।  मालूम हो कि इसमें विकलांग सैनिकों के साथ-साथ युद्ध, काउंटर इमरजेंसी और काउंटर टेरेरिज्म ऑपरेशन में प्रभावित सभी सैनिकों को शामिल किया जाएगा।

ऐसे में अब सेना ने उन दिव्यांग जवानों के बारे में भी सोचा है और उन बहादुर सैनिकों के पुनर्वास और कल्याण के साथ-साथ उन्हें सम्मान देने के लिए यह साल उन्हें समर्पित करने का फैसला किया है।

बता दें की सेना द्वारा ऐसे सैनिकों की आर्थिक तौर पर मदद की जाएगी जिनके शारीरिक अंग युद्ध में खराब हुए हैं और जिसके चलते वे अपनी नौकरी सेना में पूरी नहीं कर पाए। यह एकमुश्त मदद होगी।

मालूम हो कि इसमें विकलांग सैनिकों के साथ-साथ युद्ध, काउंटर इमरजेंसी और काउंटर टेरेरिज्म ऑपरेशन में प्रभावित सभी सैनिकों को शामिल किया जाएगा।

You May Also Like

English News