योगी सरकार ने उठाया बड़ा कदम: UP के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी प्रमाणपत्र

यूपी में चुनाव पूर्व वादा निभाते हुए राज्य की नई योगी आदित्यनाथ सरकार ने पहली कैबिनेट की बैठक में किसानों की कर्जमाफी का फैसला लिया था. अब इस फैसले को धरातल पर उतारा जा रहा है. गुरुवार को राज्य में 7574 किसानों को कर्जमाफी का प्रमाणपत्र दिया गया. इसके बाद 5 सितंबर को जिलों में प्रभारी मंत्री कर्जमाफी का प्रमाणपत्र देंगे. इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि किसानों के लिए कर्जमाफी योजना शुरू कर सरकार ने किसानों का सम्मान लौटाने का काम किया है.योगी सरकार ने उठाया बड़ा कदम: UP के 7000 से ज्यादा किसानों को मिला कर्जमाफी प्रमाणपत्र

लखनऊ के स्मृति उपवन में आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के साथ ही योगी ने इस योजना की शुरुआत की. इस दौरान उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य, उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, वित्तमंत्री राजेश अग्रवाल, कृषिमंत्री सूर्य प्रताप शाही के अलावा सुरेश खन्ना, स्वाति सिंह, अनुपमा जायसवाल समेत मंत्रिमंडल के कई सदस्य भी मौजूद थे.  योगी ने कहा, “हम किसानों की आय को दोगुना करेंगे. हमने यूपी कैबिनेट में पहला निर्णय किसानों के लिए किया. केंद्र सरकार के अनुरूप योजना बनाई. पहले किसानों को खाद और बीज नहीं मिल पाते थे. खाद के दामों को पीएम मोदी ने कम किया. 70 लाख से अधिक किसानों का वेरिफिकेशन हो चुका है.”

यह भी पढ़ें: #नोटबंदी: जल्द ही बाजार में देखने को मिलेंगे 50 और 200 के ये नोट, सोशल मीडिया पर सामने आई नई तस्वीर

उन्होंने कहा, “ये कर्जमाफी किसान पर उपकार नहीं, किसान का सम्मान है. 15 सालों में जाति की राजनीति हुई है, लेकिन हमने यूपी के 86 लाख किसानों की कर्जमाफी का फैसला किया है.”
योगी ने कहा, “किसानों के लिए हम लगातार काम कर रहे हैं. 2022 तक किसानों की आय दोगुना करने का लक्ष्य है. आलू किसानों को राहत के लिए मंडी शुल्क से मुक्त किया गया. हमने किसानों का सम्मान वापस लौटाया है.”
 
 

You May Also Like

English News