वार्ता के माध्यम से विवाद सुलझाना चाहता है चीन: वांग यी

चीन अपने निकट भूमि-सीमा के विवादों पर हमेशा अड़ियल व्यवहार करता रहा है. लेकिन अब चीन का रुख पड़ोसी सीमाओं को लेकर बदला नजर आ रहा है. पड़ोसियों के साथ चल रहे क्षेत्रीय ज्वलंत मुद्दों पर चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा कि चीन इन मुद्दों पर सकारात्मक भूमिका निभाएगा और विवादों को वार्ता के जरिए हल करेगा.वार्ता के माध्यम से विवाद सुलझाना चाहता है चीन: वांग यीसकारात्मक भूमिका निभाने को तैयार

पड़ोसियों के साथ चल रहे भू-सीमा और समुद्री-सीमा विवादों के बीच चीन के विदेश मंत्री वांग यी का कहना है कि क्षेत्रीय ज्वलंत मुद्दों को सुलझाने में चीन सकारात्मक भूमिका निभाएगा और विवादों को वार्ता के जरिए हल करेगा.

वार्ता के जरिए सुलझाएगा मुद्दे

बीजिंग में रहने वाले राजनयिकों के लिए मंगलवार को आयोजित नये साल के भोज के दौरान विदेश मंत्री ने कहा, ‘चीन क्षेत्रीय ज्वलंत मुद्दों को सुलझाने में सकारात्मक भूमिका निभाता रहेगा. वह वार्ता और सलाह के जरिए विवादों और संघर्षों को हल करने को प्रोत्साहित करना जारी रखेगा.’

वांग ने कहा यह भी कहा कि चीन पड़ोसी एवं विकासशील देशों के साथ मित्रता तथा सहयोग को बढ़ावा देगा. 

समुद्री विवादों पर रहा अड़ियल

बता दें कि दक्षिण चीन सागर में पड़ोसियों के साथ चल रहे समुद्री विवाद की पृष्ठभूमि में वांग ने यह बयान दिया है. चीन पूरे दक्षिण चीन सागर पर मालिकाना हक का दावा करता है. यहां तक कि वह चीन की मुख्य भूमि से करीब 800 मील की दूरी पर स्थित द्वीपों पर भी अपना हक जमाता है.

हालांकि, फिलीपीन, मलेशिया, ब्रुनेई और वियतनाम जैसे पड़ोसी देशों को चीन के इन दावों से आपत्ति है. वांग ने आगे कहा कि वर्ष 2018 में भी चीन ‘बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव’ (बीआरआई) को प्रोत्साहित करेगा.

You May Also Like

English News