विधायकों के वेतन से जुड़े बिल को लेकर भाजपा पर भड़के सिसोदिया

दिल्ली के विधायकों के वेतन में करीब 400 प्रतिशत तक की वृद्धि से जुड़े एक विधेयक को केन्द्र द्वारा लौटाने के बाद उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने शुक्रवार को ताज्जुब प्रकट किया कि कम तनख्वाह के बावजूद भाजपा विधायक ‘महंगी’ कार और घर कैसे खरीद सकते हैं।

कांग्रेस प्रत्याशी भी दे रहे भाजपा को सिरदर्द

 गुलाम नबी आजाद की सभा निरस्त होने से कांग्रेस प्रत्याशी, समर्थकों में ख़ुशी की लहर
उपमुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार या तो कम वेतन के बावजूद धनी होने का ‘सूत्र’ बताए या विधायकों की वेतन वृद्धि से संबंधित विधेयक को पारित करे। गृह मंत्रालय ने अधिक स्पष्टीकरण की मांग करते हुए विधेयक लौटा दिया था। सिसोदिया ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘दिल्ली सरकार ने विधायकों की वेतन वृद्धि का प्रस्ताव दिया है ताकि उनको सम्मानजनक राशि मिल सके। 

उनको केंद्र को इस विधेयक को मंजूरी देने में भी परेशानी है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारे विधायक भ्रष्टाचार में लिप्त नहीं हैं…वहीं उनके (भाजपा) विधायक और सांसद शुरआत में चुनाव जीतने के तुरंत बाद स्कूटर पर आते हैं और पांच वर्षों के बाद उनके पास महंगे घर, कार, पांच सितारा होटल और फार्म हाउस होते हैं।’’

loading...

You May Also Like

English News