विप्रो बोर्ड में शामिल होने वाले तार‍िक प्रेमजी कॉल सेंटर में कर चुके हैं काम

देश के दूसरे सबसे अमीर शख्स अजीम प्रेमजी के छोटे बेटे तारिक प्रेमजी अब विप्रो एंटरप्राइजेस से जुड़ गए हैं. उन्हें नॉन-एग्जीक्यूट‍िव डायरेक्टर के तौर पर बोर्ड में शामिल किया गया है. वह पिछले हफ्ते ही विप्रो बोर्ड से जुड़े हैं.अपने पिता अजीम प्रेमजी की तरह ही तारिक प्रेमजी भी लाइमलाइट से दूर रहना पसंद करते हैं.बता दें कि अजीम प्रेमजी देश के दूसरे सबसे अमीर शख्स हैं. फोर्ब्स के मुताबिक उनकी कुल संपत्ति 17.2 अरब डॉलर (करीब 1.15 लाख करोड़ रुपये) है.  अजीम प्रेमजी ने भी फैमिली बिजनेस संभालने के लिए पढ़ाई छोड़ दी थी. वह स्टैनफर्ड  यूनिवर्स‍िटी में पढ़ते थे. उन्होंने 1966 में फैम‍िली का कुक‍िंग बिजनेस संभाने के लिए कॉलेज छोड़ा था.

तार‍िक प्रेमजी विप्रो एंटरप्राइजेस से जुड़ने से पहले विप्रो ग्रुप के दो एनजीओ अजीम प्रेमजी फि‍लैंथेरिपिक इनिश‍िएटिव्स और अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के साथ मिलकर काम कर चुके हैं. तारिक ने बेंगलुरु के सेंट जोसेफ कॉलेज से कॉमर्स में ग्रेजुएशन किया है.

इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद उन्होंने कॉल सेंटर में भी काम किया. उसके बाद वह  प्रेमजी इन्वेस्ट से जुड़े. बता दें कि पिछले शुक्रवार को ही कंपनी ने तार‍िक को बोर्ड मेंबर बनाने की घोषणा की थी.

बता दें कि अजीम प्रेमजी देश के दूसरे सबसे अमीर शख्स हैं. फोर्ब्स के मुताबिक उनकी कुल संपत्ति 17.2 अरब डॉलर (करीब 1.15 लाख करोड़ रुपये) है.

अजीम प्रेमजी ने भी फैमिली बिजनेस संभालने के लिए पढ़ाई छोड़ दी थी. वह स्टैनफर्ड  यूनिवर्स‍िटी में पढ़ते थे. उन्होंने 1966 में फैम‍िली का कुक‍िंग बिजनेस संभाने के लिए कॉलेज छोड़ा था.

 

You May Also Like

English News