विमानन बाजार में भारत की धमक

नई दिल्ली /जालंधर : यह भारत के लिए गौरवमयी क्षण हैं कि भारतीय विमानन कम्पनियों ने एक हजार से अधिक विमानों के ऑर्डर दिए गए हैं. यह विमानन बाज़ार में भारत की धमक को दर्शाता है. बता दें कि भारतीय आकाश में अभी करीब 550 वाणिज्यिक विमान उड़ान भर रहे हैं.यह किसी भी प्रमुख विमानन बाजार के लिए सर्वाधिक संख्या है.

गौरतलब है कि भारतीय विमानन कम्पनियों द्वारा एक हज़ार से अधिक विमानों का ऑर्डर दिया गया है.इस दृष्टि से अमेरिका और चीन के बाद भारत तीसरा सबसे बड़ा विमान खरीदार देश बन गया है. आपको यह जानकर गर्व होगा कि भारतीय आकाश में फिलहाल करीब 550 वाणिज्यिक विमान उड़ान भर रहे हैं.विमानन सलाहकार फर्म सी.ए.पी.ए. की मानें तो यह किसी भी प्रमुख विमानन बाजार के लिए सर्वाधिक संख्या है.

आपको जानकारी दे दें कि विमानों की खरीदारी में सबसे अधिक रूचि इंडिगो, स्पाइसजैट, गोएयर और एयर एशिया इंडिया जैसी सस्ती विमानन सेवाओं ने दिखाई है.यह सब विमानन कंपनियां घरेलू बाजार में अपना दबदबा कायम करने के लिए 5 घंटे तक उड़ान भरने वाले नैरो बॉडी एयरक्राफ्ट पर ज्यादा ध्यान दे रही है. इंडिगो ने दुनिया में सबसे अधिक विमानों के लिए ऑर्डर दिए हैं .उसका लक्ष्य अगले 7 सालों में वह अपने बेड़े में करीब 450 विमानों को शामिल करना है.  इंडिगो के एक अधिकारी ने दावा किया है कि एक साल में इंडिगो के बेड़े में 40 नए विमान शामिल हो जाएंगे.

You May Also Like

English News