विराट इस बार 15 अगस्त से पहले भारत को नहीं दे पाए जीत का तोहफा

मौजूदा इंग्लैंड दौरे में टीम इंडिया मुश्किल हालात से गुजर रही है. मेजबान टीम के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज में वह 0-2 से पिछड़ चुकी है. विराट ब्रिगेड ने रविवार को इंग्लैंड के खिलाफ दूसरा टेस्ट पारी और 159 रनों से गंवाया.विराट इस बार 15 अगस्त से पहले भारत को नहीं दे पाए जीत का तोहफा

बुधवार को स्वतंत्रता दिवस है और इससे पहले टीम इंडिया भारत को एतिहासिक लॉर्ड्स में अच्छे प्रदर्शन का तोहफा नहीं दे पाई. पिछले साल भारत ने 14 अगस्त को पल्लेकेल टेस्ट जीतकर श्रीलंका का सीरीज में 3-0 से सफाया कर देश को स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले बड़ा तोहफा दिया था.

भारतीय टीम ने स्वतंत्रता दिवस के दिन अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच कम ही खेले हैं. अब तक वह पांच बार 15 अगस्त को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल चुकी है, और ये सभी टेस्ट मैच रहे. इनमें से तीन तो इंग्लैंड के ओवल में, जबकि दो टेस्ट गॉल में खेले गए. इनमें से पहला टेस्ट स्वतंत्रता प्राप्ति से पहले खेला गया था.

पिछले कुछ सालों में भारतीय टीम ने श्रीलंका दौरे के दौरान अगस्त महीने में कई मैच खेले हैं. इग्लैंड में तो भारतीय टीम के कई मुकाबले 15 अगस्त से पहले खत्म हुए, जैसा कि इस बार लॉर्ड्स टेस्ट 12 अगस्त को समाप्त हुआ.

आइए जानते हैं 15 अगस्त को टीम इंडिया कब-कब टेस्ट मैच खेल चुकी है-

15-18 अगस्त 1936, विरुद्ध इंग्लैंड- ओवल

इंग्लैंड 9 विकेट से जीता

विजनगरम के महाराज (विज्जी) की कप्तानी में ब्रिटेन के अधीन भारत के यह दौरा काफी उतार-चढ़ाव वाला रहा था. लॉर्ड्स में सीरीज का पहला टेस्ट हारने के बाद मैनचेस्टर का दूसरा टेस्ट भारत ड्रॉ कराने में कामयाब रहा था. ओवल में खेला गया तीसरा टेस्ट कप्तान की सनक की वजह से चर्चा में रहा. कप्तान विज्जी की सीके नायडू से नहीं पटती थी. विज्जी ने उस टेस्ट में बाका जिलानी को इसलिए डेब्यू कराया था क्योंकि उस खिलाड़ी ने सीके नायडू को अपमानित कर विज्जी को खुश कर दिया था. इंग्लैंड ने पहले खेलते हुए वॉली हेमंड के दोहरे शतक की बदौलत 471/8 का विशाल स्कोर खड़ा किया. 222 रनों पर ऑल आउट होने को बाद भारत ने सीके नायडू के 81 रनों के सहारे फॉलोऑन पारी में 312 रन बनाए. आखिरकार इंग्लैंड ने जीत के लिए आवश्यक 64 रन बनाकर वह टेस्ट 9 विकेट से जीत लिया.

14-19 अगस्त 1952, विरुद्ध इंग्लैंड- ओवल

मैच ड्रॉ

विजय हजारे की कप्तानी में 0-3 से पिछड़ रही भारतीय टीम ने सीरीज का आखिरी टेस्ट ओवल में खेला था. इंग्लैंड ने 326/6 रनों पर अपनी पहली पारी घोषित कर दी थी. जवाब में भारतीय टीम ने 49 रनों पर पांच विकेट गंवा दिए थे. बारिश प्रभावित इस टेस्ट में वह 98 रनों पर ऑल आउट हो गई. लगातार बारिश की वजह से उस टेस्ट का परिणाम नहीं निकल पाया और भारत 0-4 से व्हाइट वॉश से बच गया.

14-17 अगस्त 2001, विरुद्ध श्रीलंका- गॉल

श्रीलंका 10 विकेट से जीता

सौरव गांगुली की कप्तानी में सीरीज के पहले ही टेस्ट में भारत को श्रीलंका ने तगड़ा झटका दिया था. 14 अगस्त को पहले दिन भारत 163 रनों पर 5 विकेट खो चुका था. अगले दिन स्वतंत्रता दिवस पर टीम कुछ करिश्मा नहीं कर पाई और 187 रनों पर सिमट गई. जबाव में श्रीलंका ने सनथ जयसूर्या और कुमार संगकारा (पहला शतक) के सैकड़े की बदौलत 362 रन बनाए. लेकिन दूसरी पारी में भारतीय टीम एक बार फिर असफल रही और 162 रनों पर सिमट गई. श्रीलंका ने चौथे दिन जीत के लिए 6 रन बनाकर टेस्ट मैच 10 विकेट से जीत लिया, हालांकि भारत ने कैंडी में खेले गए तीसरे टेस्ट में वापसी की. आखिरकार कोलंबो टेस्ट जीतकर श्रीलंका ने 2-1 से सीरीज पर कब्जा जमाया.

15-17 अगस्त 2014, विरुद्ध इंग्लैंड- ओवल

इंग्लैंड पारी और 244 रनों से जीता

पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के इस आखिरी टेस्ट में भारत को एक बार फिर मैनचेस्टर टेस्ट की तरह पारी की हार झेलनी पड़ी. उस ओवल टेस्ट में भारत ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर निराशाजनक शुरुआत की. पहली पारी में 148 रन ही बन पाए. कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (82 रन) के अलावा भारत का बल्लेबाजी क्रम नाकाम रहा. जबाव में इंग्लैंड ने जो रूट के नाबाद 149 और कप्तान एलिस्टेयर कुक की 79 रनों की पारी की बदौलत 486 रन बनाए. लेकिन दूसरी पारी में एक बार फिर भारत ने अपनी पुरानी कहानी दोहराई. और इस बार टीम 94 रनों पर लुढ़क गई. इंग्लैंड ने वह टेस्ट मैच पारी और 244 रनों से जीत लिया और सीरीज पर 3-1 से कब्जा किया.

12-15 अगस्त 2015, विरुद्ध श्रीलंका- गॉल

श्रीलंका 63 रनों से जीता

विराट कोहली की कप्तानी में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर सीरीज में भारत की हार से शुरुआत हुई. तीन टेस्ट मैचों की उस सीरीज का पहला टेस्ट श्रीलंका ने 63 रनों से जीता. आर. अश्विन ने 6 विकेट लेकर श्रीलंका की पहली पारी 183 रनों पर रोक दी थी. जबाव में भारत ने अपनी पहली पारी में शिखर धवन और विराट कोहली की शतकीय पारियों की मदद से 375 रन बनाए. दूसरी पारी में श्रीलंका ने 367 रन बनाए और 176 रनों के मामूली टारगेट के सामने भारतीय टीम 112 रनों पर ढेर हो गई. इसके लिए जिम्मेवार थे रंगना हेराथ, जिन्होंने अपने स्पिन से 7 विकेट झटके. लेकिन भारत ने जोरदार वापसी की और बाकी दोनों टेस्ट जीतकर सीरीज पर 2-1 से कब्जा जमाया.

गणतंत्र दिवस (26 जनवरी): टीम इंडिया ने खेले हैं ये वनडे, टी-20

गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) की बात करें, तो इस दिन 1986 में एडिलेड में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे में भारत को 36 रनों से हार का सामना करना पड़ा था. एक बार फिर 26 जनवरी 2000 को एडिलेड वनडे में भारत को ऑस्ट्रेलिया ने 152 रनों से हराया था, जबकि इसी दिन 2015 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी वनडे बेनतीजा रहा था.

26 जनवरी 2016 को टी-20 इंटरनेशनल में भारत ने एडिलेड में ऑस्ट्रेलिया को 37 रनों से हराया था. अगले साल (2017) 26 जनवरी को कानपुर में टीम इंडिया इंग्लैंड से 7 विकेट से हार गई थी.

You May Also Like

English News