विराट कोहली की कप्तानी के बारे में कुछ ऐसा सोचते हैं सौरव गांगुली

सौरव गांगुली को भारतीय क्रिकेट में जीत का जज्बा जगाने के लिए जाना जाता है। ‘दादा’ के नाम से मशहूर गांगुली की कप्तानी में कई युवा खिलाड़ियों का चयन हुआ और इस दौरान टीम इंडिया की मानसिकता भी आक्रामक नजर आई। गांगुली की कप्तानी में टीम इंडिया ने विदेश में टेस्ट जीते और 2003 वर्ल्ड कप के फाइनल में भी प्रवेश किया।
विराट कोहली की कप्तानी के बारे में कुछ ऐसा सोचते हैं सौरव गांगुली 

जब कप्तानी के बेहतर रिकॉर्ड की बात आती है तो गांगुली से आगे एमएस धोनी निकल जाते हैं, लेकिन दादा को मैच विजयी टीम बनाने का आज भी श्रेय दिया जाता है। अब विराट कोहली के हाथों में कमान है और उनके नेतृत्व में टीम नई दिशा में आगे बढ़ रही है।
 

गांगुली का मानना है कि दिल्ली के बल्लेबाज में कप्तानी के सभी गुण हैं और वो जल्द ही भारत के महान कप्तानों में से एक बनेंगे। गांगुली ने एक मीडिया चैनल से बातचीत में कहा, ‘इसमें कोई शक नहीं कि विराट कोहली में महान भारतीय कप्तान बनने के सभी गुण मौजूद हैं। मेरे ख्याल से उनके लिए अगले 15 महीने महत्वपूर्ण हैं जब टीम इंडिया को दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया का दौरा करना है।’
 

पूर्व कप्तान ने आगे कहा, ‘मेरे ख्याल से विराट कोहली सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। वो अपनी टीम तैयार कर रहे हैं और खिलाड़ियों का चयन करके उन्हें पर्याप्त मौके दे रहे हैं। भारतीय टीम आगामी समय में न्यूजीलैंड और श्रीलंका को जरुर हराएगी। भारत को चुनौती मिलेगी जब वो दक्षिण अफ्रीका का दौरा करेगी, लेकिन मुझे लगता है कि इस टीम में वहां अच्छा प्रदर्शन करने की काबिलियत है।’
 

बता दें कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हाल ही में संपन्न पांच मैचों की वन-डे सीरीज में 28 वर्षीय विराट कोहली का बल्ला थोड़ा खामोश रहा। उन्होंने 5 मैचों में 36 की औसत से 180 रन बनाए। कोहली का बेस्ट स्कोर 92 रन रहा। दिल्ली के बल्लेबाज एक मैच में बिना खाता खोले भी आउट हुए, लेकिन वो सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की लिस्ट में छठे नंबर पर रहे।
 

You May Also Like

English News