विराट ने ब्रैडमैन और सहवाग को पीछे छोड़ा, अब लारा की बारी

विराट कोहली ने बांग्लादेश के खिलाफ हैदराबाद में दोहरा शतक जड़कर एक ही पारी में कई रिकॉर्ड अपने नाम कर लिए हैं। विराट ने अपनी इस लाजवाब पारी के बल पर सर डॉन ब्रैडमैन को पीछे छोड़ दिया। लेकिन वह दोहरे शतक के मामले में ब्रायन लारा के एक विशिष्ट रिकॉर्ड से एक कदम की दूरी पर रह गए हैं। आईए जानें विराट ने हैदराबाद टेस्ट में कौन-कौन से रिकॉर्ड अपने नाम किए और किन रिकॉर्ड्स की बराबरी कर ली… 

विराट ने ब्रैडमैन और सहवाग को पीछे छोड़ा, अब लारा की बारी

विराट ने हैदराबाद में बांग्लादेश के खिलाफ करियर का चौथा दोहरा शतक बनाया। 200 रन के आंकड़े को छूते ही विराट कोहली ने सर डॉन ब्रैडमैन और राहुल द्रविड़ जैसे दिग्गजों को पीछे छोड़ दिया। डॉन ब्रैडमैन और राहुल द्रविड़ ने लगातार तीन टेस्ट सीरीज में दोहरा शतक जड़ा था लेकिन विराट ने इनसे आगे निकलते हुए लगातार चौथा दोहरा शतक जड़ दिया। 

यहाँ जानें भारतीय क्रिकेट खिलाडियों को कितनी सैलरी मिलती है?

 लगातार चार सीरीज में दोहरा शतक बनाने के कारनामा करके विराट ने भले ही सर डॉनब्रैड मैन और राहुल द्रविड़ को पीछे छोड़ दिया हो, लेकिन बतौर कप्तान सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाने के मामले में वह वेस्टइंडीज के महानतम खिलाड़ियों में से एक ब्रायन लारा से एक कदम पीछे रह गए हैं।  लारा ने बतौर कप्तान 5 दोहरे शतक जड़े थे। विराट बतौर कप्तान चार शतक जड़कर सर डॉन ब्रैडमैन, माइकल क्लार्क और ग्रेम स्मिथ की बराबरी पर आ गए। इन खिलाड़ियों ने बतौर कप्तान चार-चार दोहरे शतक जड़े थे।

विराट कोहली ने एक होम सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने का विश्व रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया। विराट के नाम इस सीजन में 15 पारियों में 1168 रन हो गए हैं। इससे पहले यह रिकॉर्ड वीरेंद्र सहवाग के नाम दर्ज था। सहवाग ने 2004-05 के घरेलू सीजन में 17 पारियों में 69.06 की औसत से 1105 रन बनाए थे। वहीं विराट ने हैदराबाद टेस्ट की पहली पारी तक 89.84 की औसत से 1189 रन बना लिए हैं। 
 विराट कोहली का यह लगातार पांचवां टेस्ट शतक है जिसे उन्होंने 150 या उससे ज्यादा रनों की पारी में तब्दील किया है। जिनमें 4 दोहरे शतक है। 16 शतकों में से विराट 11 में विराट केवल एक बार 150 से ज्यादा रन बना सके थे। 
 चौथे विकेट के लिए विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे ने 200 से ज्यादा रन की साझे दारी की। यह तीसरा मौका है जब इन दोनों बल्लेबाजों के बीच 200 रन से ज्यादा की साझेदारी हुई है। इस मामले में विराट-रहाणे की जोड़ी सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली की बराबरी पर पहुंच गई है। दोनों के बीच चौथे विकेट के लिए तीन बार दो से ज्यादा रनों की साझेदारी हुई थी। 
 बांग्लादेश के खिलाफ बतौर कप्तान सबसे बड़ा स्कोर बनाने से चूक गए। विराट ने 246 गेंद में 204 रन बनाए यह बांग्लादेश के खिताफ किसी भी टीम के कप्तान द्वारा खेली गई दूसरी सबसे बड़ी पारी है। बांग्लादेश के खिलाफ सबसे बड़ा स्कोर दक्षिण अफ्रीका के ग्रेम स्मिथ के नाम दर्ज है। स्मिथ ने साल 2008 में चिटगांव टेस्ट में  232 रन की पारी खेली थी। 

 

 
loading...

You May Also Like

English News