वीकेंड पर जरूर पूरी करें नींद, टल जाएगा यह खतरा

अच्छी सेहत के लिए अच्छी नींद बहुत जरूरी है। अगर यह पूरी न हो तो आप गंभीर बीमारियों के शिकार हो सकते हैं। बिजी शेड्यूल और बदलते लाइफस्टाइल के चक्कर में अक्सर लोग घोर लापरवाही करते हैं और पूरी नींद नहीं लेते। क्या आप जानते हैं कि नींद पूरी न होने से कैंसर, डायबीटीज़ और हार्ट संबंधी बीमारियां होने के चांस बढ़ जाते हैं? 

यह बिल्कुल सच है, लेकिन आप घबराएं नहीं। अगर आप अपनी नींद पूरी नहीं कर पाए हैं तो वीकेंड पर आप भरपूर नींद लेकर अपनी सेहत को खास तोहफा दे सकते हैं। हाल ही में यह पता लगाने के लिए रिसर्च की गई कि कैसे नींद पूरी ने होना और मृत्यु दर एक-दूसरे से मेल खाते हैं। 

स्टॉकहोम यूनिवर्सिटी के स्ट्रेस रिसर्च इंस्टिट्यूट में यह रिसर्च की गई, जिसके तहत पिछले 13 सालों के दौरान करीब 43,880 लोगों के ग्रुप से कलेक्ट किए गए डेटा का आंकलन किया गया। इसके अलावा 1997 में स्वीडन में किए गए लाइफस्टाइल और मेडिकल सर्वे में लोगों की हेल्थ और सोने की आदतों से संबंधित डेटा कलेक्ट किया गया। 

आंकलन करने पर सामने आया कि 65 साल की उम्र से कम के वे लोग, जो वीकेंड पर 5 घंटे या उससे कम सोते थे, उनकी मृत्यु दर उन लोगों के मुकाबले 52 पर्सेंट ज्यादा थी, जो वीकेंड पर 6-7 घंटे की नींद लेते थे। इसके अलावा इसी एज ग्रुप के जो लोग हफ्ते में कम सोते थे और वीकेंड पर ज्यादा, उनकी मृत्यु दर उन लोगों के बिल्कुल बराबर थी, जो रात में 6-7 घंटे सोते थे। 

इस रिसर्च के आधार पर शोधकर्ताओं ने यह निष्कर्ष निकाला कि रोजाना 8 घंटे से ज्यादा सोने पर भी मृत्यु दर बढ़ सकती है। शोधकर्ताओं की टीम ने आगे बताया कि उन्होंने सिर्फ 65 साल या उससे कम उम्र के लोगों पर यह शोध किया था

You May Also Like

English News