वेबवर्क कंपनी पर कसा शिकंजा, निवेशकों ने जमकर किया धरना-प्रदर्शन

अनुभव मित्तल की एबलेज कंपनी की तर्ज पर क्लिक का काला कारोबार करने वाली सेक्टर-2 की वेबवर्क कंपनी पर भी कानूनी शिकंजा कस गया है। गाजियाबाद के अमित किशोर जैन की शिकायत पर थाना सेक्टर-20 पुलिस ने कंपनी के खिलाफ धोखाधड़ी और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है।
वेबवर्क कंपनी पर कसा शिकंजा, निवेशकों ने जमकर किया धरना-प्रदर्शन
एफआईआर में वेबवर्कके मालिक अनुराग गर्ग और संदेश वर्मा को आरोपी बनाया गया है।  अमित किशोर जैन ने बताया कि उन्होंने पुलिस को कई दिन पहले शिकायत दी थी।पुलिस ने अगर तत्काल कार्रवाई की होती ती कंपनी मालिकों को काम बंद कर भागने का मौका नहीं मिलता। उन्होंने एसटीएफ समेत अन्य जांच एजेंसियों से भी वेबवर्क के फर्जीवाड़े की विस्तृत शिकायत की है। 

ओम स्वामी ने इस आश्रम में दिल्ली की महिला से कर दी ये गंदी बात, केस दर्ज

कंपनी के बाहर निवेशकों द्वारा किए जा रहे प्रदर्शन

एएसपी गौरव ग्रोवर ने बताया कि साइबर सेल की मदद से शिकायत की जांच कराई जा रही है। सोमवार को शिकायतकर्ता को बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया गया था, लेकिन वह नहीं आ सके।अब उन्हें मंगलवार को बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया गया है। इसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। कंपनी के बाहर निवेशकों द्वारा किए जा रहे प्रदर्शन पर एएसपी ने बताया कि पुलिस को वेबवर्क कंपनी के खिलाफ अभी और कोई शिकायत नहीं मिली है।

उन्होंने वेबवर्क के मालिकों के बारे में भी किसी तरह की जानकारी होने से इनकार किया है।

आरोपी बिट क्वाइन लेकर भागे विदेश

वेबवर्क के निवेशकों को आशंका है कि एबलेज कंपनी का फर्जीवाड़ा सामने आने और खुद पर शिकंजा कसता देख अनुराग गर्ग और संदेश वर्मा विदेश भाग गए हैं।

बस में शुरू हुई थी इस BJP नेता की लव स्टोरी, नौ साल करना पड़ा था इंतजार

चूंकि नकद पैसे लेकर विदेश भागना संभव नहीं होता, ऐसे में उन्होंने मोटी रकम को बिट क्वाइन में बदला। बताया गया है कि आरोपी खातों में जमा करोड़ों रुपये छोड़कर भागते तो जांच एजेंसियां उसे फ्रीज करा देतीं, जबकि बिट क्वाइन को आरोपी आसानी से किसी भी देश में वहां की मुद्रा में बदलवा सकते हैं। हालांकि पुलिस की तरफ से इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

मीडिया से वेबवर्क पर कानूनी शिकंजा कसने की जानकारी मिलने के बाद सोमवार को सैकड़ों निवेशक कंपनी पहुंचे। उन्होंने कंपनी के बाहर अनुराग गर्ग और संदेश वर्मा के खिलाफ धरना-प्रदर्शन और नारेबाजी की।

कुछ निवेशकों ने बताया कि सुबह वेबवर्क का ऑफिस खुला था, लेकिन निवेशकों के पहुंचने पर कर्मचारी ऑफिस बंद कर निकल गए। निवेशकों ने कंपनी के बाहर पहुंच कर्मचारियों और अधिकारियों से उनके मोबाइल पर संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन सबके मोबाइल बंद मिले।

loading...

You May Also Like

English News