वैलेंटाइन्स डे स्पेशल: पढि़ए अखिलेश और डिम्पल की रोमांस से भरी लव स्टोरी

लखनऊ: यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव यूथ के बीच काफी लोकप्रिय हैं। ठीक उसी तरह अखिलेश और उनकी जीवनसंगनी डिम्पल यादव की लव स्टोरी भी लोगों के लिए काफी अहम है। यूं तो अक्सर अखिलेश और डिम्पल यादव को लेकर कई बाते सामने आती रहती है पर आज मौका है वैलेंटाइंस डे का। ऐसे में इस जोड़ी की कहानी बयान करने कैसे कोई भूल सकता है।

चलिए हम आप को उन दिन में लिये चलते हैं जब अखिलेश यादव और डिम्पल के बीच प्यार परवान चढ़ा था। यूपी के सीएम अखिलेश और उनकी पत्नी डिम्पल यादव की शादी इतनी आसान भी नहीं थी। 24 नवंबर को अखिलेश ने 1999 में डिम्पल से लव मैरिज की थी और दोनों को अपने घरवालों को मनाने के लिए खूब पापड़ भी बेलने पड़े थे। शादी के 17 साल बाद आज यादव परिवार में हर कोई बहू के रूप में डिम्पल पर गर्व करता है।

बताया जाता है कि अखिलेश जब पहली बार डिम्पल से मिले तब वह 17 साल की थी और अखिलेश 21 साल के। अखिलेश उस वक्त इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे थे और डिम्पल स्कूल में थी। एक कॉमन फ्रेंड के यहां अखिलेश और डिम्पल की पहली मुलाकात हुई और फिर दोनों के बीच दोस्ती हो गई थी।

ये दोस्ती कुछ ही दिनों में प्यार में बदल गई। अखिलेश पर लिखी गई एक किताब के मुताबिक अखिलेश यादव डिम्पल से मिलने का बहाना ढूंढ़ते रहते थे और उसी दोस्त के यहां डिम्पल से मिलने जाते थे।
पढ़ाई के लिए आस्ट्रेलिया जाने के बाद भी अखिलेश डिम्पल के संपर्क में बने रहे और वहां से उन्हें कार्ड और लव.लेटर भेजते रहते थे। पढ़ाई कर जब अखिलेश वापस लौटे तो पिता मुलायम ने उन्होंने अपने मन की बात कही। बताया जाता है कि उन्होंने अपने मन की बात अपनी दादी को बताई। दादी की तरफ से हरी झंडी मिल जाने के बाद अखिलेश ने बाकी सबको भी मनाया और दादी ने ये बात पिता मुलायम तक पहुंचा दी।
वहीं डिम्पल उत्तराखंड के लेफिटनेंट कर्नल एसपी रावत की बेटी हैं। उनका परिवार भी इस शादी के लिए तैयार नहीं था। कई जद्दोजहर के बाद आखिरकार अखिलेश और डिंपल के प्यार को दोनों परिवारों ने समझा फिर उनकी शादी हुई। आज अखिलेश आज एक सफल पति तो हैं ही साथ में वह अर्जुन, टीना और अदिति के पिता हैं। उनको राजनीति के साथ परिवार के बीच समंवय कैसे बनाना है यह वह अच्छी तरह जानते हैं।

You May Also Like

English News