वैलेंटाइन डे : ऐसी भी होती है सच्चे इश्क़ की अधूरी कहानी

वैलेंटाइन डे आ रहा है हर कोई अपने प्यार का इजहार करने के तरीके खोजने में लगा हुआ है, इस दिन प्रेमी प्रेमिका अपने प्रेम को जाहिर करते है और जिसे अभी तक अपने मन का मीत नहीं मिला वे भी इसी कोशिश में लगे होते है कि इस वैलेंटाइन डे उन्हें भी उनका परफेक्ट पार्टनर मिल ही जाये. मगर हर किसी की किस्मत में मुक्कमल प्यार नहीं होता, कई बार प्रेम कहानियां इजहार न करने के कारण ही अमर हो जाती है ऐसी ही एक प्रेम कहानी आप भी पढ़िए. वैलेंटाइन डे : ऐसी भी होती है सच्चे इश्क़ की अधूरी कहानी

एक लड़की थी जिसकी CD और केसेट्स की दुकान थी. वो अपने मोहल्ले के एक लड़के से प्यार करती थी, मगर उसे पता नहीं था कि वो उसके बारे में क्या सोचता है. लड़की अपने प्यार का इजहार करने से डरती थी. लड़का रोज उसकी दुकान पर आता और चुपचाप एक CD लेकर चला जाता न कोई बातचीत न नज़रें मिलाना न और कुछ ,ये सिलसिला कई सालो तक चला. न वो कुछ कहता न ये कुछ कह पाती. एक दिन खबर आई की लड़का मर गया. लड़की बहुत रोई मगर दुनिया से अपने आंसू छुपाते हुए वो लड़के के घर पहुंची.

वहां पहुंच कर लड़के के कमरे को देख वो हैरान रह गई, उस लड़के से सालो से लड़की की दुकान से जो फिल्मो की CD खरीदी थी, उन्हें आज तक खोला ही नहीं था, वो बस लड़की को एक नज़र देखने के लिए वहां जाया करता था. मगर कभी प्यार का इजहार करने हिम्मत न कर सका. ये सब देख कर लड़की फूटफूट कर रोने लगी. क्योकि वो भी भले अपने जज्बातों को होठो पर न ला सकी,  मगर वो रोजाना एक लेटर CD  के बॉक्स में डाल कर लड़के को दिया करती थी. इस तरह एक दूसरे से बेइंतहा सच्ची मोहब्बत करने वाले इजहारे इश्क़ न करने के कारण कभी एक दूजे के न हो सके.

loading...

You May Also Like

English News