शामली में गैस रिसाव से 250 बच्चों की हालत बिगड़ी, CM योगी ने दिए जांच के सख्त आदेश

यूपी के शामली में गैस रिसाव से बीमार हुए 250 बच्चों का मामला अब लखनऊ तक पहुंच गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शामली स्थित चीनी मिल के गैस रिसाव से स्कूली बच्चों के बीमार होने की घटना पर ट्वीट कर दुख व्यक्त किया है। वहीं सीएम योगी ने सहारनपुर के कमिश्नर और शामली के जिलाधिकारी (डीएम) इंद्र विक्रम सिंह को कार्रवाई के सख्त आदेश दिए। इससे यूपी प्रशासन हरकत में आ गया और मामले की तेजी से जांच की जा रही है। शामली में गैस रिसाव से 250 बच्चों की हालत बिगड़ी, CM योगी ने दिए जांच के सख्त आदेशVictory: बीजेपी को मिली जीत , 8 में 6 सीटों पर हासिल की बड़ी जीत!

मामला लखनऊ तक पहुंचने के बाद अधिकारियों के साथ-साथ नेता भी पहुंचे और उन्होंने बच्चों का हाल जाना। इस दौरान भाजपा सांसद हुकुम सिंह, पूर्व विधायक पंकज मलिक और जिला पंचायत अध्यक्ष पति समेत तमाम नेता शामली पहुंचे। 

यूपी के शामली जिले में मंगलवार को एक प्राइवेट स्कूल में अचानक 250 बच्चों की हालत बिगड़ गई। जिनमें से 108 बच्चों की हालत ज्यादा गंभीर थी जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया था। अस्पताल की ओर से 108 बच्चों की लिस्ट जारी हुई। बाकी बच्चों को आंख में जलन और सांस लेने में दिक्कत आई थी। वो अब ठीक हैं। 

इससे स्कूल प्रशासन में हड़कंप मच गया। यह घटना एक ही स्कूल की है। सभी बच्चों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस दौरान सरकारी अस्पताल की व्यवस्था फेल हो गई और बच्चों को प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया। सूचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और मामले की पूरी छानबीन की। 

वहीं शिक्षा विभाग भी जांच में जुट गया। इसके बाद प्रदूषण नियंत्रण विभाग की टीम भी मौके पर पहुंच गई। फिलहाल अस्पताल में बच्चों का इलाज किया जा रहा है। अब जांच करने के लिए प्रशासन के आला अफसर स्कूल में पहुंच गए।  

बताया जा रहा है शामली स्थित अपर दोआब शुगर मिल की डिस्टलरी यूनिट में बायो गैस प्लांट में प्रदूषण नियंत्रण विभाग की टीम जांच करने पहुंची। प्लांट को सील कर दिया गया। चीनी मिल ने कचरा नष्ट करने के लिए केमिकल डाला था। जिस कारण गैस रिसाव होने से भारी संख्या में बच्चे बेहोश हो गए और परिजनों में हाहाकार मच गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

डीएम बोले…

शामली जिला अधिकारी (डीएम) इंद्र विक्रम सिंह ने बताया कि कारण तो जांच के बाद ही पता चलेगा। फिलहाल इस मामले में प्रदूषण नियंत्रण विभाग की टीम जांच कर रही है। 

साथ ही बताया कि फिलहाल सभी बच्चों की हालत में सुधार हैं और उन्हें घर भेज दिया गया है। तीन-चार बच्चों की हालत अभी खराब है हालांकि इनमें एक बच्चा पहले से ही बीमार था। उन्होंने कहा कि इस मामले में प्रदूषण नियंत्रण विभाग की टीम जांच कर रही है और जांच के बाद पता लगेगा कि कौन सी गैस थी जिससे बच्चों की हालत बिगड़ी।

शामली में बुढाना रोड स्थित सरस्वती शिशु मंदिर स्कूल के 250 बच्चों की मंगलवार को अचानक हालत बिगड़ गई। स्कूल के पास ही शामली शुगर मिल का बायो गैस प्लांट है।

सड़क किनारे डाले गए केमिकल की तीक्ष्ण गंध के कारण बच्चों के गले में जलन, छाती में जलन और घबराहट होने लगी। आशंका है इस प्लांट से किसी गैस का रिसाव हुआ है। वहीं सरकारी अस्पताल की सारी व्यवस्था फेल हो गई। अस्पताल के सारे बेड फुल हो गए। जिन बच्चों की हालत गंभीर थी उन्हें प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करवाया गया।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें

You May Also Like

English News