शाह की बादल से भेंट से पहले कांग्रेस हुई बेचैन

संपर्क फॉर समर्थन के तहत भाजपा अध्यक्ष अमित शाह आज पुराने सहयोगी शिरोमणि अकाली दल के संरक्षक व पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल से यहां मुलाकात करेंगे. लेकिन इस मुलाकात से पहले ही कांग्रेस की बेचैनी उसके बयान से झलकने लगी है. कांग्रेस ने कहा है कि यह मुलाकात राहुल गांधी के कारण संभव हो रही है.संपर्क फॉर समर्थन के तहत भाजपा अध्यक्ष अमित शाह आज पुराने सहयोगी शिरोमणि अकाली दल के संरक्षक व पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल से यहां मुलाकात करेंगे. लेकिन इस मुलाकात से पहले ही कांग्रेस की बेचैनी उसके बयान से झलकने लगी है. कांग्रेस ने कहा है कि यह मुलाकात राहुल गांधी के कारण संभव हो रही है.    बता दें कि शाह व बादल की बैठक से पहले ही कांग्रेस के प्रदेश प्रधान सांसद सुनील जाखड़ ने बुधवार को कहा कि यह मुलाकात राहुल गांधी के कारण संभव हो रही है. गुजरात व कर्नाटक चुनाव में राहुल के नेतृत्व का ही नतीजा है कि अब भाजपा को चार साल बाद अकाली दल की याद आई है . जाखड़ ने अकाली दल से शाह के सामने किसान समस्या,यमुना लिंक और श्री गुरु नानक देव जी के 550वें जन्म दिवस समारोह के लिए 2145.31 करोड़ रुपये केंद्र से मांगने का मुद्दा रखने की भी बात कही .जबकि इसका पलटवार करते हुए शिअद ने कहा कि कांग्रेस के नेता गांधी परिवार की खुशामद करने से कभी नहीं चूकते हैं.    उल्लेखनीय है कि अमित शाह आज गुरुवार को पूर्व सीएम बादल के अलावा अकाली दल के अध्यक्ष व पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल के साथ भी चंडीगढ़ में बैठक करेंगे. यह मुलाकात लोक सभा चुनाव 2019 के लिए अन्य दलों का समर्थन हासिल करने के उद्देश्य से आयोजित की गई है.हालाँकि अकाली दल भाजपा का पूर्व सहयोगी है.संपर्क फॉर समर्थन के तहत भाजपा अध्यक्ष अमित शाह आज पुराने सहयोगी शिरोमणि अकाली दल के संरक्षक व पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल से यहां मुलाकात करेंगे. लेकिन इस मुलाकात से पहले ही कांग्रेस की बेचैनी उसके बयान से झलकने लगी है. कांग्रेस ने कहा है कि यह मुलाकात राहुल गांधी के कारण संभव हो रही है.    बता दें कि शाह व बादल की बैठक से पहले ही कांग्रेस के प्रदेश प्रधान सांसद सुनील जाखड़ ने बुधवार को कहा कि यह मुलाकात राहुल गांधी के कारण संभव हो रही है. गुजरात व कर्नाटक चुनाव में राहुल के नेतृत्व का ही नतीजा है कि अब भाजपा को चार साल बाद अकाली दल की याद आई है . जाखड़ ने अकाली दल से शाह के सामने किसान समस्या,यमुना लिंक और श्री गुरु नानक देव जी के 550वें जन्म दिवस समारोह के लिए 2145.31 करोड़ रुपये केंद्र से मांगने का मुद्दा रखने की भी बात कही .जबकि इसका पलटवार करते हुए शिअद ने कहा कि कांग्रेस के नेता गांधी परिवार की खुशामद करने से कभी नहीं चूकते हैं.    उल्लेखनीय है कि अमित शाह आज गुरुवार को पूर्व सीएम बादल के अलावा अकाली दल के अध्यक्ष व पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल के साथ भी चंडीगढ़ में बैठक करेंगे. यह मुलाकात लोक सभा चुनाव 2019 के लिए अन्य दलों का समर्थन हासिल करने के उद्देश्य से आयोजित की गई है.हालाँकि अकाली दल भाजपा का पूर्व सहयोगी है.

बता दें कि शाह व बादल की बैठक से पहले ही कांग्रेस के प्रदेश प्रधान सांसद सुनील जाखड़ ने बुधवार को कहा कि यह मुलाकात राहुल गांधी के कारण संभव हो रही है. गुजरात व कर्नाटक चुनाव में राहुल के नेतृत्व का ही नतीजा है कि अब भाजपा को चार साल बाद अकाली दल की याद आई है . जाखड़ ने अकाली दल से शाह के सामने किसान समस्या,यमुना लिंक और श्री गुरु नानक देव जी के 550वें जन्म दिवस समारोह के लिए 2145.31 करोड़ रुपये केंद्र से मांगने का मुद्दा रखने की भी बात कही .जबकि इसका पलटवार करते हुए शिअद ने कहा कि कांग्रेस के नेता गांधी परिवार की खुशामद करने से कभी नहीं चूकते हैं.

उल्लेखनीय है कि अमित शाह आज गुरुवार को पूर्व सीएम बादल के अलावा अकाली दल के अध्यक्ष व पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल के साथ भी चंडीगढ़ में बैठक करेंगे. यह मुलाकात लोक सभा चुनाव 2019 के लिए अन्य दलों का समर्थन हासिल करने के उद्देश्य से आयोजित की गई है.हालाँकि अकाली दल भाजपा का पूर्व सहयोगी है.

You May Also Like

English News