शिवपाल ने मुलायम को दिया भावुक निमंत्रण

अपने तो अपने होते है ये बात समाजवादी पार्टी विधायक शिवपाल यादव ने एक बार फिर साबित कर दी. दरअसल सरकारी घर खाली करने की दशा में उन्होंने अपने बड़े भाई और पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव से अपने घर में रहने की भावुक अपील कर दी . इस संबंध में शिवपाल यादव ने बुधवार को मुलायम सिंह से मुलाकात भी की. एसपी नेता सीपी राय ने बताया कि शिवपाल ने कहा है कि नेताजी (मुलायम) और वह पहले भी एक ही घर में रहते थे. शिवपाल यादव ने यह भी कहा कि अखिलेश भी अगर चाचा मानते हैं, तो वह भी उनके घर में रह सकते हैं.अपने तो अपने होते है ये बात समाजवादी पार्टी विधायक शिवपाल यादव ने एक बार फिर साबित कर दी. दरअसल सरकारी घर खाली करने की दशा में उन्होंने अपने बड़े भाई और पार्टी संस्थापक मुलायम सिंह यादव से अपने घर में रहने की भावुक अपील कर दी . इस संबंध में शिवपाल यादव ने बुधवार को मुलायम सिंह से मुलाकात भी की. एसपी नेता सीपी राय ने बताया कि शिवपाल ने कहा है कि नेताजी (मुलायम) और वह पहले भी एक ही घर में रहते थे. शिवपाल यादव ने यह भी कहा कि अखिलेश भी अगर चाचा मानते हैं, तो वह भी उनके घर में रह सकते हैं.   बता दें कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के अनुरोध पर अभी राज्य संपत्ति विभाग विचार कर ही रहा था कि अब उनके पिता और पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने भी अपना बंगला खाली करने के लिए दो वर्ष का समय मांगा है. इस बारे में उन्होंने अपने प्रतिनिधि के माध्यम से एक पत्र बुधवार को राज्य संपत्ति विभाग को भिजवा दिया है.  राज्य संपत्ति विभाग के सूत्रों के मुताबिक मुलायम सिंह यादव ने बुधवार को अपने निजी सचिव के माध्यम से एक पत्र राज्य संपत्ति अधिकारी योगेश कुमार शुक्ला को भिजवाया था जिस पर न्याय विभाग से विचार विमर्श होना बाकि है.

बता दें कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के अनुरोध पर अभी राज्य संपत्ति विभाग विचार कर ही रहा था कि अब उनके पिता और पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने भी अपना बंगला खाली करने के लिए दो वर्ष का समय मांगा है. इस बारे में उन्होंने अपने प्रतिनिधि के माध्यम से एक पत्र बुधवार को राज्य संपत्ति विभाग को भिजवा दिया है.

राज्य संपत्ति विभाग के सूत्रों के मुताबिक मुलायम सिंह यादव ने बुधवार को अपने निजी सचिव के माध्यम से एक पत्र राज्य संपत्ति अधिकारी योगेश कुमार शुक्ला को भिजवाया था जिस पर न्याय विभाग से विचार विमर्श होना बाकि है. 

You May Also Like

English News