शिवपाल यादव का बड़ा ऐलान, UP 80 सीट पर चुनाव लड़ेगा समाजवादी सेक्युलर मोर्चा

समाजवादी पार्टी के अलग होकर समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन करने वाले शिवपाल सिंह यादव ने बड़ी लड़ाई के लिए कमर कस ली है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के दौरे पर आज उन्होंने बागपत के साथ ही साथ मुजफ्फरनगर में अपनी पार्टी के लिए लोगों की नब्ज टटोली।समाजवादी पार्टी के अलग होकर समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन करने वाले शिवपाल सिंह यादव ने बड़ी लड़ाई के लिए कमर कस ली है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के दौरे पर आज उन्होंने बागपत के साथ ही साथ मुजफ्फरनगर में अपनी पार्टी के लिए लोगों की नब्ज टटोली।   बागपत के बिनौली में समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के अध्यक्ष व शिवपाल यादव ने दरकवदा गांव में पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदलने को मोर्चा बनाया गया है। शिवपाल सिंह यादव ने पत्रकारों से वार्ता के दौरान कहा कि उपेक्षित और अपमानित होकर उन्होंने मोर्चा बनाया। भाजपा में जाने की बात को सिरे से खारिज किया। समाजवादी सेक्युलर मोर्चा क्यों बनाया के सवाल पर उन्होंने कहा कि हमने नेताजी के साथ मिलकर बड़ी शिद्दत से समाजवादी पार्टी बनाई थी। उनकी सपा में लगातार हो रही उपेक्षा के चलते सीनियर, अपमानित व उपेक्षित हैं, जिनको हाशिये पर रख दिया गया था उनको जोड़कर सेक्युलर मोर्चा का गठन किया है। प्रदेश में मोर्चे के लोकसभा चुनाव लड़ने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य है उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदलना है। मोर्चा प्रदेश की सभी लोकसभा सीटों पर चुनाव लडे़गा।   अक्षरधाम से बागपत तक बनेगा फोरलेन हाईवे यह भी पढ़ें उन्होंने कहा दबे कुचलों और वंचितों को उनका हक न्याय दिलाना ही मोर्चे का लक्ष्य है। अखिलेश के चाचा शिवपाल ओर अंकल अमरसिंह के भाजपा से सांठ-गांठ होने के आरोप को उन्होंने सिरे से खारिज कर दिया और कहा कि यह बात निराधार है और उनके सेक्युलर अभियान को बाधित करने का प्रचार है। अखिलेश व सपा से क्या मुखालफत है? इस सवाल पर उन्होंने कहा कि हमारी किसी से मुखालफत नहीं है। इससे पूर्व कार्यकर्ताओं ने दरकावदा पहुंचने पर ढोल नगाड़ों व फूल मालाओं से जोरदार स्वागत भी किया। मोर्चा लोकसभा चुनाव में प्रदेश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगा। इस दौरान उन्होंने अखिलेश यादव के उस बयान को बेबुनियाद बताया, जिसमें अखिलेश ने शिवपाल सिंह यादव का भाजपा से सम्पर्क होने की बात कही थी। शिवपाल यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी में उपेक्षित और सामान विचारधारा वाली पार्टियों के साथ मिलकर वह चुनाव लड़ेंगे। इससे अब यह साफ हो चुका है कि उन्होंने अलग राह पकड़ ली है।  शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव (2019) में समाजवादी सेक्युलर मोर्चा उत्तर प्रदेश की सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेगा। शिवपाल ने कहा कि उन्होंने इस समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन राष्ट्रीय एकता के लिए किया है। अब तो समाजवादी पार्टी के उपेक्षित तथा अपमानित के साथ जो लोग वहां हाशिए पर है उन्हें एकजुट करके आगे की लड़ाई लड़ेंगे।   निवाड़ा में संघर्ष,असलाह लहराए,11 धरे गये यह भी पढ़ें बिनोली के दरकावदा गांव में आज शिवपाल सिंह यादव ने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करने के बाद मीडिया से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश की किस्मत बदलना ही इस सेक्युलर मोर्चे के उद्देश्य है। आने वाले चुनावों में सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। इसके लिए समान विचारधारा वाली पार्टी को एक साथ लेकर आएंगे। जब उनसे पूछा गया कि उनकी किस्से मुखालफत है समाजवादी पार्टी या फिर अखिलेश से, तो उन्होंने कहा कि उनकी किसी से मुखालफत नहीं है। वह उनकी लड़ाई लड़ रहे हैं जो भी सपा में उपेक्षित और अपमानित हैं। इस मौके पर उनके साथ आचार्य प्रमोद कृष्णम भी मौजूद थे। आचार्य प्रमोद ने 2014 का चुनाव कांग्रेस के टिकट पर संभल से लड़ा था।     छपरौली में लोगों की जान का दुश्मन बना सांड़ यह भी पढ़ें शिवपाल सिंह यादव ने बीती बुधवार को समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का ऐलान किया था। उन्होंने कहा था कि समाजवादी पार्टी में काफी उपेक्षित और अपमानित लोगों को सेक्युलर मोर्चा से जोड़ेंगे। शिवपाल का कहना था कि पार्टी में नेताजी (मुलायम सिंह यादव) का सम्मान न होने से आहात हूं। मुझे भी पार्टी में किसी भी मीटिंग में नहीं बुलाया जाता। इस मोर्चे से वे ऐसे सभी लोगों को जोड़ेंगे जिनका अपमान हो रहा है। इसके साथ ही इसके साथ क्षेत्रीय दलों को भी जोडऩे की बात कही।  शिवपाल यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदलने को मोर्चा बनाया गया है। समाजवादी पार्टी से अलग हुए शिवपाल यादव ने अपनी अलग सियासी राह चुन ली है। उनके ताल ठोंकने से साफ हो गया है कि समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव को भाजपा से मुकाबला करने के साथ-साथ अपने चाचा से भी दो-दो हाथ करने होंगे।   अश्लील फब्तियां कसने पर पांच छात्र कालेज से निकाले यह भी पढ़ें शिवपाल यादव ने अपने राजनीतिक जीवन में पहली बार लोकसभा चुनाव लडऩे का ऐलान किया है। इससे पहले सूबे सियासत तक ही अपने को सीमित रख रहे थे। शिवपाल ने कहा कि मैं पहली बार लोकसभा चुनाव लडऩे की तैयारी कर रहा हूं, मेरे खिलाफ प्रत्याशी उतरते हैं या नहीं यह फैसला मुलायम सिंह यादव को करना है। 2019 के लोकसभा चुनाव में मुलायम सिंह यादव ने आजमगढ़ के बजाय मैनपुरी से लोकसभा का चुनाव लडऩे का फैसला किया है।

बागपत के बिनौली में समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के अध्यक्ष व शिवपाल यादव ने दरकवदा गांव में पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदलने को मोर्चा बनाया गया है। शिवपाल सिंह यादव ने पत्रकारों से वार्ता के दौरान कहा कि उपेक्षित और अपमानित होकर उन्होंने मोर्चा बनाया। भाजपा में जाने की बात को सिरे से खारिज किया। समाजवादी सेक्युलर मोर्चा क्यों बनाया के सवाल पर उन्होंने कहा कि हमने नेताजी के साथ मिलकर बड़ी शिद्दत से समाजवादी पार्टी बनाई थी। उनकी सपा में लगातार हो रही उपेक्षा के चलते सीनियर, अपमानित व उपेक्षित हैं, जिनको हाशिये पर रख दिया गया था उनको जोड़कर सेक्युलर मोर्चा का गठन किया है। प्रदेश में मोर्चे के लोकसभा चुनाव लड़ने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य है उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदलना है। मोर्चा प्रदेश की सभी लोकसभा सीटों पर चुनाव लडे़गा।

उन्होंने कहा दबे कुचलों और वंचितों को उनका हक न्याय दिलाना ही मोर्चे का लक्ष्य है। अखिलेश के चाचा शिवपाल ओर अंकल अमरसिंह के भाजपा से सांठ-गांठ होने के आरोप को उन्होंने सिरे से खारिज कर दिया और कहा कि यह बात निराधार है और उनके सेक्युलर अभियान को बाधित करने का प्रचार है। अखिलेश व सपा से क्या मुखालफत है? इस सवाल पर उन्होंने कहा कि हमारी किसी से मुखालफत नहीं है। इससे पूर्व कार्यकर्ताओं ने दरकावदा पहुंचने पर ढोल नगाड़ों व फूल मालाओं से जोरदार स्वागत भी किया। मोर्चा लोकसभा चुनाव में प्रदेश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगा। इस दौरान उन्होंने अखिलेश यादव के उस बयान को बेबुनियाद बताया, जिसमें अखिलेश ने शिवपाल सिंह यादव का भाजपा से सम्पर्क होने की बात कही थी। शिवपाल यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी में उपेक्षित और सामान विचारधारा वाली पार्टियों के साथ मिलकर वह चुनाव लड़ेंगे। इससे अब यह साफ हो चुका है कि उन्होंने अलग राह पकड़ ली है।

शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव (2019) में समाजवादी सेक्युलर मोर्चा उत्तर प्रदेश की सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेगा। शिवपाल ने कहा कि उन्होंने इस समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन राष्ट्रीय एकता के लिए किया है। अब तो समाजवादी पार्टी के उपेक्षित तथा अपमानित के साथ जो लोग वहां हाशिए पर है उन्हें एकजुट करके आगे की लड़ाई लड़ेंगे।

बिनोली के दरकावदा गांव में आज शिवपाल सिंह यादव ने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करने के बाद मीडिया से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उत्तरप्रदेश की किस्मत बदलना ही इस सेक्युलर मोर्चे के उद्देश्य है। आने वाले चुनावों में सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। इसके लिए समान विचारधारा वाली पार्टी को एक साथ लेकर आएंगे। जब उनसे पूछा गया कि उनकी किस्से मुखालफत है समाजवादी पार्टी या फिर अखिलेश से, तो उन्होंने कहा कि उनकी किसी से मुखालफत नहीं है। वह उनकी लड़ाई लड़ रहे हैं जो भी सपा में उपेक्षित और अपमानित हैं। इस मौके पर उनके साथ आचार्य प्रमोद कृष्णम भी मौजूद थे। आचार्य प्रमोद ने 2014 का चुनाव कांग्रेस के टिकट पर संभल से लड़ा था।

शिवपाल सिंह यादव ने बीती बुधवार को समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का ऐलान किया था। उन्होंने कहा था कि समाजवादी पार्टी में काफी उपेक्षित और अपमानित लोगों को सेक्युलर मोर्चा से जोड़ेंगे। शिवपाल का कहना था कि पार्टी में नेताजी (मुलायम सिंह यादव) का सम्मान न होने से आहात हूं। मुझे भी पार्टी में किसी भी मीटिंग में नहीं बुलाया जाता। इस मोर्चे से वे ऐसे सभी लोगों को जोड़ेंगे जिनका अपमान हो रहा है। इसके साथ ही इसके साथ क्षेत्रीय दलों को भी जोडऩे की बात कही।

शिवपाल यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश की तस्वीर बदलने को मोर्चा बनाया गया है। समाजवादी पार्टी से अलग हुए शिवपाल यादव ने अपनी अलग सियासी राह चुन ली है। उनके ताल ठोंकने से साफ हो गया है कि समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव को भाजपा से मुकाबला करने के साथ-साथ अपने चाचा से भी दो-दो हाथ करने होंगे।

शिवपाल यादव ने अपने राजनीतिक जीवन में पहली बार लोकसभा चुनाव लडऩे का ऐलान किया है। इससे पहले सूबे सियासत तक ही अपने को सीमित रख रहे थे। शिवपाल ने कहा कि मैं पहली बार लोकसभा चुनाव लडऩे की तैयारी कर रहा हूं, मेरे खिलाफ प्रत्याशी उतरते हैं या नहीं यह फैसला मुलायम सिंह यादव को करना है। 2019 के लोकसभा चुनाव में मुलायम सिंह यादव ने आजमगढ़ के बजाय मैनपुरी से लोकसभा का चुनाव लडऩे का फैसला किया है।

You May Also Like

English News