शिवरात्रि को बिल्वपत्र और जल से शिव पूजन करते समय ध्यान रखे यह मंत्र…

बिल्वपत्र और जल से शिव पूजन करते समय ध्यान रखे यह मंत्र : शिवजी ही सबसे सरल स्वभाव और मोहमाया से दूर रहने वाले देव है वे कलश भर पानी और आसानी से मिल जाने वाले बिल्वपत्र धतूरे से प्रसन्न हो जाते है | इनकी पूजा से मनुष्य को सभी सुखो का आनंद प्राप्त होता है | यह सांसारिक और पारलोकिक आनंद देने वाले देवता है | अकाल मृत्यु को इनकी कृपा से दूर किया जा सकता है |

अब जाने शिवलिंग की स्तुति में बिल्वपत्र का महत्व :धार्मिक मान्यता है कि सोमवार को शिव को खासतौर पर तीन पत्ती या पञ्च पत्ती वाले बिल्वपत्र पर पीले चन्दन से ॐ बनाकर शिवलिंग पर चढ़ाने से पाप का नाश होता है और साथ ही साथ मनुष्य को भौतिक और मानसिक शांति सफलता प्राप्त होती है | उनके घर में सदैव लक्ष्मी जी का निवास होता है |

महामंत्र जब बिल्वपत्र अर्पण कर रहे हो :

बिल्वपत्र पर ॐ बनाकर एक एक पत्र शिवजी पर अर्पण करे और मंत्र का उच्चारण करे

त्रिदलं त्रिगुणाकारं त्रिनेत्रं त्रयायुधम्।

त्रिजन्म पापसंहारंमेकबिल्वं शिवार्पणम।।

उसके बाद शिवजी की आराधना करे और अंत में सफल जीवन और अपने परिवार के लिए सुख शांति की आराधना करे |

 

You May Also Like

English News