मलिष्का पर पार्टी नेताओं का गुस्सा, पड़ सकता है खुद पर ही भारी

रेडियो जॉकी मलिष्का पर शिवसेना का गुस्सा पांच दशक पुरानी पार्टी से युवाओं को आकर्षित करने के युवा सेना के नेता आदित्य ठाकरे के प्रयासों में बाधा उत्पन्न कर सकता है. यह बात राजनीतिक पर्यवेक्षकों ने कही है. मलिष्का ने मॉनसून के मौसम में मुंबई की सड़कों पर गड्ढों को लेकर अपने गाने में नगर निकाय का मजाक उड़ाया था.मलिष्का पर पार्टी नेताओं का गुस्सा, पड़ सकता है खुद पर ही भारी

शिवसेना के नेताओं का दावा है कि मलिष्का के व्यंग्यात्मक वीडियो में शिवसेना शासित बृहन्मुंबई महानगरपालिका की छवि को गलत रूप में पेश किया गया है. पार्टी की युवा इकाई युवा सेना के सदस्य उन लोगों में शामिल थे जिन्होंने सबसे पहले महानगरपालिका प्रमुख से संपर्क कर कहा कि नगर निकाय की छवि खराब करने के मामले में रेडियो जॉकी के खिलाफ कार्रवाई की जाए. शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे के 27 वर्षीय पुत्र युवा इकाई के प्रमुख हैं.

बड़ी खबर: PM मोदी के साथ हुआ सबसे बड़ा धोखा, हुआ कुछ ऐसा जो किसने सपने में भी नहीं सोंचा होगा…

वरिष्ठ राजनीतिक विश्लेषक प्रकाश अकोलकर ने कहा कि असल में यह आदित्य ठाकरे के प्रयासों को प्रभावित कर रहा है. उनके उतावलेपन से पार्टी के प्रति युवाओं को आकर्षित करने के आदित्य के प्रयास विफल हो सकते हैं. इस बारे में पार्टी प्रवक्ता मनीषा कायंडे ने कहा कि हमें युवा पीढ़ी के साथ संपर्क न टूटने देने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे. उनमें से कुछ पार्टी की हाल की कार्रवाइयों से निराश होंगे, लेकिन हमें उन्हें मनाना होगा. कायंडे ने ये भी कहा कि रेडियो जॉकी ज्यादातर मनोरंजन में हैं.

उन्हें सामाजिक मुद्दों पर टिप्पणी क्यों करनी चाहिए, खासकर तब जब वे जमीनी हकीकत से दूर हैं. प्रदेश भाजपा के मुख्य प्रवक्ता माधव भंडारी ने कहा कि शिवसेना का रवैया इसकी शुरुआत के समय से मुश्किल से ही बदला होगा. आलोचना के प्रति उसका रवैया अपरिवर्तित रहा है, जो मलिष्का प्रकरण से झलकता है.

loading...

You May Also Like

English News