बड़ी खबर: आजादी के बाद देश को अब तक का हुआ सबसे बड़ा नुकसान

नई दिल्ली: नोटबंदी का असर शेयर बाजार के साथ-साथ रुपये पर भी दिखना शुरु हो गया है, गुरुवार को कारोबार में रुपया डॉलर के मुकाबले 28 पैसे टूटकर 68.84 के स्तर पर आ गया है, जो कि पिछले 39 महीनों में सबसे न्यूनतम है।

नोटबंदी का असर शेयर बाजार
 
 
गिरावट की मुख्य वजह लगातार विदेशी कोष की निकासी बताई जा रही है। बुधवार को रुपया दिन के समय में अपने निचले स्तर 68.85 पर पहुंचा था, इससे पहले 28 अगस्त 2013 को यह 68.80 के स्तर पर बंद हुआ था।
मुद्रा कारोबारियों के अनुसार निर्यातकों की ओर से माह के अंत में डॉलर की मजबूत मांग, विदेशी कोषों की सतत निकासी और अमेरिका के केंद्रीय बैंक की ओर से ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी की संभावना से घरेलू मुद्रा को नुकसान पहुंचा है।
 
 
उनके मुताबिक घरेलू शेयर बाजारों की धीमी शुरुआत से भी रुपया कमजोर हुआ है, बुधवार को रुपया 31 पैसे टूटकर 68.56 के स्तर पर बंद हुआ था जो पिछले नौ महीने में सबसे निचला स्तर था।
इसी बीच बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स आज 145.97 अंक यानी 0.56 प्रतिशत गिरकर 25905.84 अंक पर खुला है।
 

You May Also Like

English News