#शोध: उतना भी सुरक्षित नहीं है योग, जितना कि आज-कल माना जाता है

योग शायद उतना भी सुरक्षित नहीं जितना की माना जाता है. ऐसा उन शोधकर्ताओं का कहना है जिन्होंने पाया है कि इस प्राचीन भारतीय पद्धति के कारण मांसपेशी और हड्डी में दर्द हो सकता है, यही नहीं इसके कारण पहले से लगी चोटें और गंभीर रूप धारण कर सकती हैं.#शोध: उतना भी सुरक्षित नहीं है योग, जितना कि आज-कल माना जाता है

जर्नल ऑफ बॉडीवर्क ऐंड मूवमेंट थेरेपीज में प्रकाशित शोध शौकिया योग के कारण होने वाली चोटों से जुड़ा है.

मांसपेशियों और हड्डियों से जुड़े विकार के वैकल्पिक उपचार के तौर पर योग दुनियाभर के लोगों के बीच तेजी से लोकप्रिय हो रहा है.

ऑस्ट्रेलिया में सिडनी यूनिवर्सिटी के इवानगेलोस पापास ने कहा कि योग मांसपेशी-हड्डी संबंधी दर्द में फायदेमंद हो सकता है जैसे कि कोई व्यायाम लेकिन उसके कारण दर्द भी पैदा हो सकता है.

You May Also Like

English News