श्रद्धालुओं से भरी बस पलटी, मौके पर चीख-पुकार के बीच ऐसे फंसे पड़े थे लोग…

नेशनल हाईवे पर 41 श्रद्धालुओं को लेकर जा रही बस अचानक हादसे का शिकार हो गई। मौके की तस्वीरें देखिए श्रद्धालुओं से भरी बस पलटी, मौके पर चीख-पुकार के बीच ऐसे फंसे पड़े थे लोग...

अभी अभी आई एक बुरी खबर: ‘जग्गा जासूस’ की एक्ट्रेस की पंखे से लटकती मिली लाश, शोक में डूबा पूरा बॉलीवुड…

राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर नौ पर मंगलवार सुबह हुए सड़क हादसे में एक श्रद्धालु की मौत हो गई, जबकि करीब 30 लोग घायल हो गए। मलोट से 41 श्रद्धालु एक निजी में सवार होकर सिरसा के सिकंदरपुर स्थित राधास्वामी डेरे के लिए रवाना हुए थे। बस जब सिरसा के पन्नीवाला मोटा नहर के पास पहुंची तो चालक अचानक बस से संतुलन खो बैठा।  

परिणामस्वरूप बस फोरलेन के बीच बने डिवाइडर से टकराकर कई पलटियां खाती हुई हाईवे के दूसरी ओर कच्चे में जा गिरी। हादसे में बस के नीचे दबने से 27 वर्षीय श्रद्धालु अमित मक्कड़ की मौके पर ही मौत हो गई। बस में 30 महिलाओं और 10 पुरुषों और चालक सहित कुल 42 लोग सवार थे। सभी लोग मलोट के बताए गए हैं।

घायलों को ओढां के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवाया गया जहां चीख-पुकार मची रही। घायलों के समक्ष अस्पताल के बेड भी कम पड़ गए, लेकिन फिर भी स्टाफ ने सराहनीय सेवाएं देते हुए घायलों का तत्परता से उपचार करते हुए गंभीर चोटें आने वाले घायलों को साथ की साथ सिरसा रेफर किया। वहीं सूचना पाकर घायलों के परिजन मौके पर पहुंचे और हर कोई अपने-अपने परिजन के बारे में पूछता नजर आया। 

वहीं घटना के बाद थाना प्रभारी जगदीश जोशी ने अस्पताल में पहुंचकर घायलों का हालचाल जानते हुए उन्हें धैर्य बंधाया। तो वहीं गांव ओढां और रोहिड़ांवाली से पहुंचे लोगों ने उपचार में स्टाफ का सहयोग किया। इस हादसे के बाद सभी घायल एक दूसरे के ऊपर पड़े मदद के लिए चिल्ला रहे थे। कुछ घायलों ने बताया कि बस में अधिकांश लोग नींद की अवस्था में थे। उन्हें पता तक नहीं चला की आखिर अचानक ये घटना कैसे हुई। 

हादसे का कारण चालक का ध्यान बंटना सामने आया है। घायल चालक अबोहर निवासी करीब 32 वर्षीय मलकीत सिंह ने बताया कि वे मलोट से सुबह पांच बजे सिकंदरपुर के लिए रवाना हुए थे। चालक के अनुसार दो युवक आगे बैठे आपस में मजाक कर रहे थे। इसी दौरान उसका ध्यान उनकी तरफ बंटते ही तेज रफ्तार बस फोरलेन हाईवे के बीच बने डिवाइडर से टकराकर करीब पांच फुट नीचे हाईवे के दूसरे छोर पर से कई पलटे खाती हुई बबूल के पेड़ से टकराकर पलट गई। 

प्रशासन ने जाना घायलों का हालचाल

इस हादसे के बाद सीएचसी ओढां में गांव रोहिड़ांवाली और ओढां के ग्रामीणों ने स्वास्थ्यकर्मियों के साथ इलाज में काफी मदद की। तो वहीं हादसे के उपरांत प्रशासन की ओर से तहसीलदार वजीर सिंह, तहसीलदार छेलुराम, कानूनगो श्रवण कुमार सहित अन्य अधिकारियों ने नागरिक अस्पताल में पहुंचकर घायलों का कुशलक्षेम जाना और चिकित्सकों को तत्परता से चिकित्सा सहायता उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए। 

हादसे में एक व्यक्ति की मौत हुई है, जबकि करीब 30 लोग घायल हुए हैं। हादसे का क ारण बस चालक की लापरवाही होना सामने आया है। पुलिस ने घायल अंश अरोड़ा के बयान पर बस चालक अबोहर निवासी मलकीत सिंह के खिलाफ लापरवाही से वाहन चलाकर दुर्घटना करने के आरोप में मामला दर्ज कर लिया है। घायलों में से 13 लोगों को सिकंदरपुर के अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। 

You May Also Like

English News