श्रीकांत का वर्ल्ड नंबर एक पुरुष शटलर बनना तय

 देश के दिग्गज पुरुष शटलर किदांबी श्रीकांत का दुनिया का नंबर एक खिलाड़ी बनना तय हो गया है। श्रीकांत पिछले साल चोट की वजह से दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी बनने से चूक गए थे, लेकिन गुरुवार को जारी होने वाली ताजा विश्व रैंकिंग में वह 76895 अंकों के शीर्ष रैंकिंग हासिल कर लेंगे। श्रीकांत ने कॉमनवेल्थ गेम्स में सोमवार को मिक्स्ड टीम स्पर्धा में भारत को स्वर्ण पदक दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी।नई दिल्ली। देश के दिग्गज पुरुष शटलर किदांबी श्रीकांत का दुनिया का नंबर एक खिलाड़ी बनना तय हो गया है। श्रीकांत पिछले साल चोट की वजह से दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी बनने से चूक गए थे, लेकिन गुरुवार को जारी होने वाली ताजा विश्व रैंकिंग में वह 76895 अंकों के शीर्ष रैंकिंग हासिल कर लेंगे। श्रीकांत ने कॉमनवेल्थ गेम्स में सोमवार को मिक्स्ड टीम स्पर्धा में भारत को स्वर्ण पदक दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी।  श्रीकांत मौजूदा दौर में इस मुकाम पर पहुंचने वाले भारत के पहले पुरुष खिलाड़ी होंगे। महिलाओं में साइना नेहवाल मार्च 2015 में दुनिया की पहले नंबर की खिलाड़ी बन चुकी हैं। उससे पहले प्रकाश पादुकोण 1980 में चोटी के तीन टूर्नामेंट जीतने के बाद नंबर एक खिलाड़ी बने थे।  फिलहाल विश्व चैंपियन डेनमार्क के विक्टर एलेक्सन 77130 अंकों के साथ शीर्ष पर हैं लेकिन ताजा रैंकिंग में वह 1660 अंक खो देंगे जिसके बाद उन्हें अपनी नंबर एक की कुर्सी गंवानी पड़ेगी। मालूम हो कि बैडमिंटन रैंकिंग 52 हफ्तों के प्रदर्शन के हिसाब से तय होती है। इस समयावधि में खेले गए शीर्ष दस टूर्नामेंटों के अंकों का आकलन किया जाता है। श्रीकांत ने 2017 में इंडोनेशिया, ऑस्ट्रेलिया, डेनमार्क और फ्रांस ओपन के खिताब अपने नाम किए। वह दुनिया में ऐसा करने वाले सिर्फ चौथे खिलाड़ी थे। वह पिछले साल दो नवंबर को दुनिया के दूसरे नंबर के खिलाड़ी बने थे।

श्रीकांत मौजूदा दौर में इस मुकाम पर पहुंचने वाले भारत के पहले पुरुष खिलाड़ी होंगे। महिलाओं में साइना नेहवाल मार्च 2015 में दुनिया की पहले नंबर की खिलाड़ी बन चुकी हैं। उससे पहले प्रकाश पादुकोण 1980 में चोटी के तीन टूर्नामेंट जीतने के बाद नंबर एक खिलाड़ी बने थे।

फिलहाल विश्व चैंपियन डेनमार्क के विक्टर एलेक्सन 77130 अंकों के साथ शीर्ष पर हैं लेकिन ताजा रैंकिंग में वह 1660 अंक खो देंगे जिसके बाद उन्हें अपनी नंबर एक की कुर्सी गंवानी पड़ेगी। मालूम हो कि बैडमिंटन रैंकिंग 52 हफ्तों के प्रदर्शन के हिसाब से तय होती है। इस समयावधि में खेले गए शीर्ष दस टूर्नामेंटों के अंकों का आकलन किया जाता है। श्रीकांत ने 2017 में इंडोनेशिया, ऑस्ट्रेलिया, डेनमार्क और फ्रांस ओपन के खिताब अपने नाम किए। वह दुनिया में ऐसा करने वाले सिर्फ चौथे खिलाड़ी थे। वह पिछले साल दो नवंबर को दुनिया के दूसरे नंबर के खिलाड़ी बने थे।

You May Also Like

English News