संविधान बचाओ नहीं राहुल बचाओ अभियान है – संबित पात्रा

 बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि जो व्यक्ति खुद 15 पंक्ति नहीं लिख सकता वो आज कह रहा है कि 15 मिनट बोलने नहीं दिया जा रहा है. जो व्यक्ति बिना मोबाइल में देखे एक मिनट नहीं बोल सकता वह 15 मिनट क्या बोलेंगे. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी एक असफल नेता हैं, इसलिए वे इस प्रकार के मुद्दे उठा रहे हैं. ये संविधान बचाओ नहीं राहुल बचाओ अभियान है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी का ये गुस्सा इसलिए था क्योंकि कहीं न कहीं आज परिवारवाद मात खा रहा है और साधारण जनता सत्ता तक पहुंच रही है.नई दिल्ली: बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि जो व्यक्ति खुद 15 पंक्ति नहीं लिख सकता वो आज कह रहा है कि 15 मिनट बोलने नहीं दिया जा रहा है. जो व्यक्ति बिना मोबाइल में देखे एक मिनट नहीं बोल सकता वह 15 मिनट क्या बोलेंगे. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी एक असफल नेता हैं, इसलिए वे इस प्रकार के मुद्दे उठा रहे हैं. ये संविधान बचाओ नहीं राहुल बचाओ अभियान है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी का ये गुस्सा इसलिए था क्योंकि कहीं न कहीं आज परिवारवाद मात खा रहा है और साधारण जनता सत्ता तक पहुंच रही है.  गौरतलब है कि इससे पहले राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और संघ परिवार पर पर तीखा हमला करते हुए आज कहा कि मोदी ने देश के संविधान और संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करके तथा देश को जाति धर्म के नाम पर बांटने की कोशिश करके भारत की धर्मनिरपेक्ष एवं सहिष्णु छवि को विदेशों में जबर्दस्त चोट पहुंचायी है और कांग्रेस की विचारधारा में ही यह ताकत है कि वह संविधान ,संवैधानिक संस्थाओं ,दलितों ,अल्प सख्यकों, महिलाओं समेत समाज के हर तबके की रक्षा कर सकती है.     गांधी ने कांग्रेस के दिग्गज नेताओं की मौजूदगी में यहां तालकटोरा स्टेडियम में एक वर्ष तक चलने वाले देशव्यापी‘संविधान बचाओ अभियान’की शुरूआत करते हुए अपने संबोधन में कहा कि कांग्रेस ने 70 वर्ष के शासन में देश को संविधान दिया और चुनाव आयोग,लोकसभा,राज्यसभा,विधानसभाएं तथा आईआईटी और आईआईएम जैसी संस्थाएं दीं और सबका सम्मान एवं रक्षा की लेकिन आज हर संस्था में आरएसएस की विचारधारा के लोगों को भरा जा जा रहा है.

गौरतलब है कि इससे पहले राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और संघ परिवार पर पर तीखा हमला करते हुए आज कहा कि मोदी ने देश के संविधान और संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करके तथा देश को जाति धर्म के नाम पर बांटने की कोशिश करके भारत की धर्मनिरपेक्ष एवं सहिष्णु छवि को विदेशों में जबर्दस्त चोट पहुंचायी है और कांग्रेस की विचारधारा में ही यह ताकत है कि वह संविधान ,संवैधानिक संस्थाओं ,दलितों ,अल्प सख्यकों, महिलाओं समेत समाज के हर तबके की रक्षा कर सकती है.

गांधी ने कांग्रेस के दिग्गज नेताओं की मौजूदगी में यहां तालकटोरा स्टेडियम में एक वर्ष तक चलने वाले देशव्यापी‘संविधान बचाओ अभियान’की शुरूआत करते हुए अपने संबोधन में कहा कि कांग्रेस ने 70 वर्ष के शासन में देश को संविधान दिया और चुनाव आयोग,लोकसभा,राज्यसभा,विधानसभाएं तथा आईआईटी और आईआईएम जैसी संस्थाएं दीं और सबका सम्मान एवं रक्षा की लेकिन आज हर संस्था में आरएसएस की विचारधारा के लोगों को भरा जा जा रहा है.

You May Also Like

English News