सऊदीअरब ने मिसाइल हमले के लिए ईरान को ठहराया जिम्मेदार

यहाँ की वायु रक्षा प्रणाली ने राजधानी रियाद में दो बैलिस्टिक मिसाइलें पकड़ीं और उन्हें उसके बाद नष्ट किया गया.  सऊदी की अगुवाई वाले गठबंधन के प्रवक्ता ने बताया कि सऊदी की वायु रक्षा प्रणाली ने उससे कुछ घंटे पहले भी एक बैलेस्टिक मिसाइल को अपनी हिरासत में लिया था. बता दें कि  जिसे यमन से सऊदी अरब के जीजान शहर पर दागा गया था. यहाँ की वायु रक्षा प्रणाली ने राजधानी रियाद में दो बैलिस्टिक मिसाइलें पकड़ीं और उन्हें उसके बाद नष्ट किया गया.  सऊदी की अगुवाई वाले गठबंधन के प्रवक्ता ने बताया कि सऊदी की वायु रक्षा प्रणाली ने उससे कुछ घंटे पहले भी एक बैलेस्टिक मिसाइल को अपनी हिरासत में लिया था. बता दें कि  जिसे यमन से सऊदी अरब के जीजान शहर पर दागा गया था.   गौरतलब है कि इससे पहले 20 अप्रैल को सउदी रक्षा बलों ने यमन की ओर से दागी गयी एक बैलिस्टिक मिसाइल को बीच में ही रोक दिया था . बताते है कि  हूती मिलिशिया ने जीजान शहर को निशाना बनाकर यह मिसाइल दागी थी. सऊदी नेतृत्व वाले गठबंधन में लड़ रहे विद्रोहियों ने बताया कि सऊदी अरब की वायुसेना ने दक्षिणी तटीय शहर जीजान में यमन के विद्रोहियों की ओर से दागी एक ‘‘ बैलिस्टिक मिसाइल ’’ को बीच में ही रोक दिया है.  यहाँ के कर्नल तुर्की अल मलिकी ने इस हमले के लिए यमन में ‘ईरान समर्थित हुती’ विद्रोहियों को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है. सऊदी अरब अपने क्षेत्रीय प्रतिद्वंद्वी ईरान पर हुथियों को बैलिस्टिक मिसाइलें प्रदान करने का आरोप लगाता रहा है. यह नया हमला ऐसे समय में  किया गया है जब महज एक दिन पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान परमाणु करार से अमेरिका के हटने की घोषणा की थी.

गौरतलब है कि इससे पहले 20 अप्रैल को सउदी रक्षा बलों ने यमन की ओर से दागी गयी एक बैलिस्टिक मिसाइल को बीच में ही रोक दिया था . बताते है कि  हूती मिलिशिया ने जीजान शहर को निशाना बनाकर यह मिसाइल दागी थी. सऊदी नेतृत्व वाले गठबंधन में लड़ रहे विद्रोहियों ने बताया कि सऊदी अरब की वायुसेना ने दक्षिणी तटीय शहर जीजान में यमन के विद्रोहियों की ओर से दागी एक ‘‘ बैलिस्टिक मिसाइल ’’ को बीच में ही रोक दिया है.

यहाँ के कर्नल तुर्की अल मलिकी ने इस हमले के लिए यमन में ‘ईरान समर्थित हुती’ विद्रोहियों को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है. सऊदी अरब अपने क्षेत्रीय प्रतिद्वंद्वी ईरान पर हुथियों को बैलिस्टिक मिसाइलें प्रदान करने का आरोप लगाता रहा है. यह नया हमला ऐसे समय में  किया गया है जब महज एक दिन पहले अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान परमाणु करार से अमेरिका के हटने की घोषणा की थी.

You May Also Like

English News