सचिन के ‘आशियाने’ को तोड़ते समय ​मिली ऐसी चीजें, जिससे देखकर मचा हड़कंप

सचिन के आशियाने को तोड़ते समय वहां एक बहुत बड़ा तहखाना निकला। इसके साथ ही वहां ऐसी चीजें मिली जिसे देखकर हड़कंप मच गया। सचिन के 'आशियाने' को तोड़ते समय ​मिली ऐसी चीजें, जिससे देखकर मचा हड़कंपअखिलेश की ‘कसौटी’ पर परखे जाएंगे शिवपाल ‘भक्त’, पहचान करने का अभियान शुरू

संजय नारंग के छावनी क्षेत्र स्थित ढहेलिया बैंक भवन के ध्वस्तीकरण का कार्य चौथे दिन भी जारी रहा। ढहलिया बैंक में एक लाख लीटर का भूमिगत वाटर टैंक मिला। इंडस्ट्रियल आरओ प्लांट भी नारंग के भवन में पाया गया।

जीओसी सब एरिया कमांडर मेजर जनरल जेएस यादव ने बताया कि निरीक्षण के दौरान वहां 45 हजार के फायर टेंक, गैस पाइप लाइन, पाइन की लाइन प्लांट, दर्जनों की संख्या में बैटरी, तीन बड़े आधुनिक जरनेटर ​मिले हैं। इसे देखकर सब दंग रह गए।   

ध्वस्तीकरण में लगी यश कंपनी के निदेशक विशाल ने बताया कि भवन आधुनिक तकनीक से बनाया गया है। पूरे भवन में उच्चकोटि के विदेशी कापर वायर आदि डाले गए हैं। भवन को मजबूती प्रदान करने के लिए लोहे के गार्डर लगाए गए हैं। इस पूरे ध्वस्तीकरण में अनुमान से अधिक खर्चा होने का अंदेशा है। अधिकांश सामान नारंग के कर्मचारियों ने हटा दिया है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अगर यहां रखे उपकरण फट जाते तो कोई बड़ा हादसा हो सकता था।  क्योंकि इस कोठी के सटे सैन्य विभाग का आईटीएम भी है। यह सभी जीचें अवैध तरीके से बने हुए हैं। करोड़ों रूपये की लागत से इस सुरंग का निर्माण करवाया गया था।

वहीं यह भवन भूकंपरोधी भी है। नौ रिएक्टर तक का भूकंप यह भवन आसानी से झेल सकता है। इसे तोड़ने में मजदूरों के भी पसीने छूट रहे हैं। बता दें कि, संजय नारंग पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के करीबी दोस्त हैं।

सचिन जब भी यहां छुट्टी मनाने आते, इसी आशियाना में ठहरते थे। वहीं दूसरी ओर कैंट बोर्ड ने इस आशियाना को अवैध निर्माण मनाते हुए मंगलवार से इसे तोड़ने का काम शुरू कर दिया है।

You May Also Like

English News