सत्‍संग में शामिल होने गई पानीपत की महिला यूं हुई एक के बाद एक दुष्‍कर्म का शिकार

सत्संग सुनने के लिए घर से निकली हरियाणा की 20 वर्षीय महिला के साथ पातड़ां के सत्संगी भाई और उसके साथी ने नशीली चीज पिलाकर दुष्कर्म किया। इतना ही नहीं उसे वापस भेजने के बहाने पटियाला के एक पीजी में रखा गया और वहां भी पीजी में रहने वाले व्यक्ति ने दुष्कर्म किया। इसके बाद वह अंबाला पहुंची तो पति की मौसी का लड़का काम के बहाने पीडि़ता को हिमाचल प्रदेश के ऊना शहर ले गया और उसकी आपबीती सुन उसने भी भाभी के साथ दुष्कर्म किया।

तीन बार हुई दुष्‍कर्म का शिकार, मजबूरी का फायदा उठाकर पति के माैसेरे ने भी किया दुष्‍कर्म

पीडि़ता जैसे-तैसे वापस घर पहुंची को अपने मां-बाप को घटना की जानकारी दी। पति के साथ हरियाणा पुलिस को शिकायत की तो मामला पंजाब के पातड़ां थाने पहुंचा जहां दुष्कर्म के चारों आरोपितों पर मामला दर्ज किया गया। पानीपत की उक्त विवाहिता ने थाना कैथल मे रिपोर्ट दर्ज करवाई कि 27 अगस्त को वह पंजाब के रोहान गांव में सत्संग के लिए गई थी। उसने ये बात पति को भी बताई थी।

महिला ने बताया कि उसकी अपने सत्संगी भाई सुखपाल से फोन पर बात हुई कि वह मुझे सत्संग में ले जाएंगे। वह पानीपत से कैथल के लिए बस में बैठ गई। कैथल पहुंचने पर सुखपाल का मौसेरा भाई मोटरसाइकिल पर उसे लेने आ गया। दोनों सुखपाल के गांव अरनो के लिए निकले, लेकिन वह बाइक पातड़ां के गांव शुतराणा ले आया। उसने कहा कि अरनो में सुखपाल के घर पर कोई नहीं है। सुखपाल की मम्मी भी शुतराणा गई है। उस घर में कोई महिला नहीं थी।

महिला ने बताया कि घर में सुखपाल के दो मौसेरे भाई मौजूद थे। उन्होंने उसे कोल्ड ड्रिंक पीने को दिया। इसे पीते ही वह बेहोश हो गई। बेहोशी की हालत में उन्होंने दुष्कर्म किया। इसके बाद सुखपाल ने अपनी मौसी के लड़के को उसे पटियाला बस स्टैंड से पानीपत की बस में बैठाने को कहा। उसकी मौसी का लड़का पटियाला बस स्टैंड की बजाए अपने किसी दोस्त के पीजी ले गया और वहां छोड़कर चला गया। पीजी में अमितोष नामक युवक ने उससे दुष्कर्म किया। अगले दिन सुबह छह बजे आरोपित ने उसे बस स्टैंड छोड़ा।

You May Also Like

English News