सदन में वेणुगोपाल ने उछाला नीट डाटा लीक का मुद्दा

कांग्रेस पार्टी सदन के मानसून सत्र में नीट के परीक्षार्थियों का डाटा लीक होने के मुद्दे को लेकर केंद्र को घेरने में लगी हुई है. आज सदन के लोक सभा में कांग्रेस सांसद के सी वेणुगोपाल ने सदन में स्थगन नोटिस जारी करते हुए नीट डाटा लीक पर चर्चा करने की मांग की है  इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने भी नीट डाटा लीक मामले पर सीबीएसई को पत्र लिखकर इस मामले में जाँच के आदेश देने के लिए मांग की है.कांग्रेस पार्टी सदन के मानसून सत्र में नीट के परीक्षार्थियों का डाटा लीक होने के मुद्दे को लेकर केंद्र को घेरने में लगी हुई है. आज सदन के लोक सभा में कांग्रेस सांसद के सी वेणुगोपाल ने सदन में स्थगन नोटिस जारी करते हुए नीट डाटा लीक पर चर्चा करने की मांग की है  इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने भी नीट डाटा लीक मामले पर सीबीएसई को पत्र लिखकर इस मामले में जाँच के आदेश देने के लिए मांग की है.  मुझसे गले मिलने से पहले 10 बार सोचेंगे राहुल- योगी       राहुल गाँधी ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की चेयरपर्सन अनीता करवाल को पत्र लिखा है, उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि 2 लाख से ज्यादा नीट के विद्यार्थियों का डाटा इंटरनेट वेबसाइट्स पर उब्लब्ध है. उन्होंने इस पर सवाल उठाते हुए कहा है कि मैं हैरान हूँ कि विद्यार्थियों का डाटा इंटरनेट पर कैसे पहुंचा, विद्यार्थियों की निजी सूचनाओं के साथ खिलवाड़ क्यों किया गया. इन्ही सवालों के जवाब राहुल गाँधी ने अपने पत्र में मांगे हैं, साथ ही ऐसी गलतियों को रोकने के लिए कदम उठाने की बात भी कही है.  NEET डाटा लीक पर भड़के राहुल, जाँच की मांग की    गौरतलब है कि नीट की परीक्षा देने वाले लाखों परीक्षार्थियों का डाटा इंटरनेट पर पाया गया था, जिसमे उनका मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी और  घर का पता भी था, नीट के विद्यार्थियों के इस डाटा को ऑनलाइन बेचने के भी आरोप लगाए जा रहे थे. नीट मेडिकल छात्रों ले लिए एक महत्वपूर्ण परीक्षा मानी जाती है, इसी के आधार पर छात्रों को मेडिकल कॉलेजेस में एडमिशन मिलता है, ऐसे में ये बड़ी लापरवाही है, जिसकी जांच की मांग कांग्रेस अध्यक्ष ने उठाई है.

राहुल गाँधी ने केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की चेयरपर्सन अनीता करवाल को पत्र लिखा है, उन्होंने अपने पत्र में लिखा है कि 2 लाख से ज्यादा नीट के विद्यार्थियों का डाटा इंटरनेट वेबसाइट्स पर उब्लब्ध है. उन्होंने इस पर सवाल उठाते हुए कहा है कि मैं हैरान हूँ कि विद्यार्थियों का डाटा इंटरनेट पर कैसे पहुंचा, विद्यार्थियों की निजी सूचनाओं के साथ खिलवाड़ क्यों किया गया. इन्ही सवालों के जवाब राहुल गाँधी ने अपने पत्र में मांगे हैं, साथ ही ऐसी गलतियों को रोकने के लिए कदम उठाने की बात भी कही है.

गौरतलब है कि नीट की परीक्षा देने वाले लाखों परीक्षार्थियों का डाटा इंटरनेट पर पाया गया था, जिसमे उनका मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी और  घर का पता भी था, नीट के विद्यार्थियों के इस डाटा को ऑनलाइन बेचने के भी आरोप लगाए जा रहे थे. नीट मेडिकल छात्रों ले लिए एक महत्वपूर्ण परीक्षा मानी जाती है, इसी के आधार पर छात्रों को मेडिकल कॉलेजेस में एडमिशन मिलता है, ऐसे में ये बड़ी लापरवाही है, जिसकी जांच की मांग कांग्रेस अध्यक्ष ने उठाई है. 

You May Also Like

English News