सपा व कांग्रेस के बीच हुआ गठबंधन अब खतरे में!

लखनऊ: यूपी के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी व कांग्रेस के बीच हुआ गठबंधन अब आगे रहेगा या नहीं इसको लेकर चर्चा तेज हो गयी है। सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने गठबंधन की जरुरत से इंकार किया है। वहीं कांग्रेसी नेता भी गठबंधन को लेकर यह संकेत दे चुके हैं कि गठबंधक चुनाव में हुआ था आगे क्या होगा यह अभी तय नहीं है।

 


उत्तर प्रदेश कांग्रेस महागठबंधन के लिए फिलहाल तैयार नहीं है। रविवार को प्रदेश मुख्यालय पर राज्य के पूर्वी और मध्य अंचलों के 12 मण्डलों के जिलाध्यक्षों की बैठक में एक सुर से महागठबंधन का विरोध सामने आया। प्रदेश कांग्रेस प्रभारी गुलाम नबी आजादए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बरए पार्टी के सांसद प्रमोद तिवारीए वरिष्ठ नेता डॉण्संजय सिंह आदि की मौजूदगी में हुई इस बैठक में जिलाध्यक्षों ने महागठबंधन और पार्टी की मौजूदा स्थिति पर इन बड़े नेताओं को खूब खरी.खरी सुनाई। मीडिया से बातचीत में राजब्बर ने कहा कि अखिलेश यादव और मायावती जिस तरह की राजनीति कर रहे हैं उसमें उन्हें गठबंधन की ज्यादा जरूरत है।

बब्बर के अनुसार सपा और कांग्रेस दोनों के मुददे अलग हैं और राजनीति भी अलग है। प्रदेश प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने मीडिया से कहा कि सपा और कांग्रेस के बीच प्रदेश में अभी जो गठबंधन था वह विधान सभा चुनाव के लिए ही था अब 2019 के लोकसभा चुनाव के लिए हम बाद में फैसला करेंगे। वहीं समाजपादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव भी इस बात को कह चुके हैैं कि सपा को कांग्रेस से गठबंधन करने की कोई आवश्यकता नहीं है। सपा अपने बल पर चुनाव लड़ सकती है।

You May Also Like

English News