सरकार को माननी पड़ेगी मांगें, वापस नहीं होगी हड़ताल

देशभर में सड़कों की हालत खस्ता है, डीजल और टोल टैक्स के दाम हर दिन बढ़ रहे हैं, थर्ड पार्टी बीमा कई गुना बढ़ा दिया। अब समस्याओं का हल कराने के लिए 20 जुलाई को सुबह 6 बजे से अनिश्चितकाल के लिये ट्रकों की हड़ताल होगी। अब आरपार की लड़ाई लड़ेंगे। मांगें सरकार को माननी ही पड़ेगी। यह चेतावनी सोमवार को ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के आह्वान पर यूपी मोटर ट्रांसपोर्टर्स एसोसिएशन की साकेत नगर में आयोजित आमसभा में लिया गया।

ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष एसके मित्तल ने कहा कि परिवहन व्यवसायी सरकार को करोड़ों का टैक्स देते हैं। खराब सड़कों के कारण 120 करोड़ रुपये हर वर्ष ट्रकों के मेंटीनेंस में खर्च होता है, फिर भी सरकार परिवहन व्यवसायियों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है।

ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस के चेयरमैन कुलतरन सिंह अटवाल ने कहा कि अनिश्चितकालीन हड़ताल वापस नहीं होगी। यूपी मोटर ट्रांसपोर्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष सतीश गांधी ने कहा कि डीजल, टोल, बीमा, आयकर, ई-वे बिल समेत कई ऐसे फैसले हैं, जिससे व्यवसाय चौपट हो चुका है। हड़ताल के लिये प्रदेश संयोजक बनाये गये यादवेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि हड़ताल के दिन जो ट्रक चलाएगा, उसे अकेला छोड़ देंगे। इस अवसर पर मनीष कटारिया , हरीश सब्बरवाल, गुलशन छाबड़ा, यतीश सिंह, दीप अवस्थी, गुलशन कुमार, केसी शर्मा, गोल्डी, विमल शुक्ला, लोकल ट्रक ऑपरेटर्स यूनियन के महामंत्री अब्दुल वहीद, यूपी युवा ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष श्याम शुक्ला, लवी गांधी, सौरभ सक्सेना, अजय गुप्ता, संतोष शुक्ला आदि रहे।

You May Also Like

English News