सरकार ने ताजमहल को बताया अवैध, तोड़ने का काम शुरू

NEW DELHI: दो लोगों के प्यार की निशानी ताजमहल को सरकार ने गिरा दिया है। सरकार ने उसका निर्माण अवैध बताया है।

मामला ऑस्ट्रेलिया का है। ऑस्ट्रेलियाई प्रशासन द्वारा पर्थ में स्थित भारतीय कारोबारी के ताजमहल को तोड़ने का काम शुरू कर दिया गया है। 
दरअसल ताज महल जैसी ये इमारत अरबपति कारोबारी पंकज ओसवाल और उसकी पत्नी राधिका ओसवाल की तरफ से 7 करोड़ डॉलर की लागत से स्वान नदी के किनारे पर बनाई जा रही थी।
सरकार ने ताजमहल को बताया अवैध, तोड़ने का काम शुरू
भारतीय कारोबारी पंकज ओसवाल इस भवन के निर्माण नियमों में हुए उल्लंघन के लिए सरकार द्वारा लगाए गए कर को अदा नहीं कर रहे हैं जिसके चलते सरकार द्वारा ये कदम उठाया गया।
बता दें कि 2010 में ओसवाल ने कारोबार में आ रही मुश्किलों के चलते इसका काम बंद कर दिया था।पंकज पर टैक्स का भुगतान न करने और इमारती नियमों का उल्लंघन करने का आरोप है। 
2010 में ओसवाल कपल टैक्स का भुगतान किए बिना ही ऑस्ट्रेलिया छोड़ चला गया था। इसके बाद यह कपल ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बैंकों के साथ करोड़ों डॉलरों के कर्जे के मामले में फंसा हुआ था।भारत में स्थित प्यार की निशानी ताजमहल के जैसी बनाई जा रही इस इमारत में 7 गुंबद, एक मंदिर, जिम, स्विमिंग पूल और 17 कारों की पार्किंग के लिए जगह बनाई जानी थी।
6600 वर्ग मीटर जमीन पर बनाया जा रहा यह घर पर्थ के सबसे महंगे घरों में से एक था जिस के निर्माण पर यह पंजाबी कपल 2.2 करोड़ डॉलर अब तक खर्च कर चुका था। 
 

You May Also Like

English News